15 फरवरी 2021 को बांबे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) सेंसेक्स 51,517 पर पहुंचकर अब तक का उच्चतम स्तर बनाने में कामयाब हो गया था. लेकिन पिछले हफ्ते गिरकर 47,265 पर पहुंच गया. इसका यह मतलब है कि अब तक इसमें 10 फीसदी की गिरावट देखी जा चुकी है. आज इसमें काफी मजबूती देखी जा रही है और यह 48,000 के पार कारोबार करता हुआ देखा गया. लेकिन, कुछ ऐसी कंज्यूमर कंपनियां हैं जिनमें एक माह के अंदर अभी तक 23 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है. यहां पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि वे कौन से शेयर हैं जिनमें अभी तक 23 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आते हुए देखी गई है.Also Read - अप्रैल में निर्यात 30.7 प्रतिशत बढ़ा, व्यापार घाटा 20.11 अरब डॉलर पर पहुंचा

यें कंपनियां रोजमर्रा के उपयोग की चीजें बनाती हैं Also Read - Share Market: क्या RBI के प्रमुख ब्याज दरों में बढ़ोतरी से आर्थिक विकास धीमा पड़ने की बढ़ रही है चिंता?

ये कंपनिया रोजमर्रा के उपयोग का सामान बनाने वाली हैं. इनके सामान की मांग रहती है और लोग इन पर ज्यादा से ज्यादा खर्च करते हैं. ट्रेंट एक ऐसी कंपनी है जिसके शेयर का मूल्य 729 रुपये हैं. इसमें एक माह में 8.8 फीसदी की गिरावट आई है. यह कंपनी नैपकिन्स और टॉवेल बनाती हैं. जिनका हर रोज उपयोग किया जाता है. अंबर एंटरप्राइजेज के शेयरों में 8.4 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. यह कंपनी एसी और फ्रीज बनाती है. Also Read - Sensex Today: वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच सेंसेक्स में तेजी, 17,189 पर पहुंचा निफ्टी

पीवीआर के शेयरों में आई जोरदार गिरावट

पीवीआर कंपनी थियेटर चलाती है. यद्यपि कोरोना की वजह से थियेटर बंद पड़े हैं. जब सिनेमा घर खुलेंगे तो इनके शेयरों में ज्यादा से ज्यादा तेजी आते हुए देखी जाएगी. इसके शेयर का मूल्य फिलहाल 1015 रुपये है और इसमें अभी तक ऊपरी स्तरों से 23.6 फीसदी की गिरावट आते हुए देखी गई है. बिरला फैशन और रिटेल कंपनी जो रिटेल गुड्स पर फोकस करती है. रिटेल का मतलब है कि यह रोजमर्रा के सामानों कि बिक्री करती है. इसके शेयरों में एक माह में 20 फीसदी की गिरावट आते हुए देखी गई है. बाटा इंडिया जो स्लिपर और जूते बनाती है उसके शेयरों का मूल्य 1286 रुपये है. इसके शेयरों में 12.8 फीसदी की गिरावट एक माह में देखी गई है. इसका कारण यह है कि लोग इस समय ज्यादातर समय घरों में बिताते हैं उनका चलना फिरना कम हो पाता है. इसलिए जूते और चप्पल की मांग घट गई है.

एसी, कूलर और फैन बनाने वाली कंपनी सिंफनी 

सिंफनी कंपनी एसी, कूलर और फैन बनाती है. इसके शेयरों का मूल्य फिलहाल 1140 रुपये पर है. इसके शेयरों में एक माह में अभी तक 10 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. ब्लू स्टार जो एसी और फ्रीज बनाती है उसके शेयरों में भी एक माह में 7.5 फीसदी की गिरावट आते हुए देखी गई है. ये सभी कंपनिया ऐसे सामान बनाती हैं जिनका उपयोग रोजमर्रा की जिंदगी में किया जाता है. लेकिन कोरोना की वजह से लगे प्रतिबंधों से इनके सामानों की मांग में कमी आ गई है. इन कंपनियों के सामान हर समय बिकते हैं. खासकरके गर्मियों के सीजन में बहुत से आइटम जैसे-एसी, फैंस, एयर कूलर्स और फ्रिजर्स खरीदे जाते हैं. लेकिन कोरोना महामारी की वजह से लगाए गए प्रतिबंधों के चलते इनके सामानों की बिक्री में कमी देखी जा रही है. जिसकी वजह से इन कंपनियों के शेयरों के भावों में गिरावट देखी जा रही है.

कोरोनो के प्रसार को रोकने के लिए लगाए प्रतिबंधों का खास असर नहीं होगा

मोतीलाल ओसवाल ब्रोकिंग कंपनी का कहना है कि लॉकडाउन का कोई खास असर नहीं होगा. आने वाले समय में इन सेक्टर की कंपनियों के शेयरों में उछाल आते हुए दिखाई देगा. एचडीएफसी सेक्योरिटीज का कहना है कि गिरावट के बावजूद भी इनके शेयरों में उछाल देखा जाएगा. आने वाले समय में लॉकडाउन के बावजूद भी इनके सामानों की मांग बढ़ेगी. इसलिए इन कंपनियों के शेयरों में खरीदारी करने की सलाह दी जा रही है.

सेल के स्टॉक में होगा 21 फीसदी मुनाफा

एसएमसी ग्लोबल के सौरभ जैन का कहना है कि निवेशकों को सेल के स्टॉक में खरीदारी करके चलना चाहिए. घर बैठे ही आप इसके शेयरों में 21 फीसदी का मुनाफा कमा सकते हैं. यह सरकारी कंपनी है और स्टील की कंपनी है. उन्होंने ग्रैन्यूल्स इंडिया के स्टॉक को भी खरीदने की सलाह दी है. इसका लक्ष्य 383 रुपये बताया है. इसमें निवेशकों को 16 फीसदी का मुनाफा हो सकता है. जेफरीज को टाटा स्टील में 22 फीसदी मुनाफा मिलने की उम्मीद है. वहीं जियोजित का कहना है कि एचडीएफसी बैंक में 16 फीसदी मुनाफा मिल सकता है.

अद्भुत मुनाफे की उम्मीद

इन सबके अलावा, कुछ ऐसे भी स्टॉक्स हैं जिनमें अच्छा-खासा मुनाफा मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. हालांकि ये शेयर दूसरे सेक्टरों के हैं. मोतीलाल ओसवाल, क्लास और आईसीआसीआई सेक्योरिटीज ने 50 फीसदी रिटर्न की उम्मीद जताई है. इडेलवाइज की सालह है कि सनटेक रियल्टी के शेयरों में खरीदारी करके चला जा सकता है. इसका लक्ष्य 435 रुपये तय किया है. इसमें 56 फीसदी रिटर्न की उम्मीद जताई गई है. सेंट्रम ने बजाज फाइनेंस को खरीदने की सलाह दी है. इसका लक्ष्य 394 रुपये तय किया है. इसमें 35 फीसदी रिटर्न की उम्मीद जताई गई है.