नयी दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने कॉल की घंटी का समय मोबाइल के लिये 30 सेकंड और लैंडलाइन के लिये 60 सेकंड तय किया है. ट्राई ने शुक्रवार को सेवाओं की गुणवत्ता संबंधी संशोधित नियमों में यह व्यवस्था की. Also Read - Lockdown 4.0: अब अमेजन, फ्लिपकार्ट से खरीद सकेंगे टीवी, फ्रिज और मोबाइल फोन

Also Read - Lockdown: ट्राई का दूरसंचार कंपनियों को निर्देश, लॉकडाउन में बढ़ाई जाए प्लान वैधता

ट्राई ने लैंडलाइन एवं मोबाइल फोन सेवाओं की गुणवत्ता संबंधी प्रावधान में किये संशोधन में कहा कि आने वाली फोन कॉल का यदि तुरंत उत्तर नहीं दिया जाये या उसे काटा न जाए तो उसकी सूचना देने वाली फोन की घंटी मोबाइल सेवाओं के लिये 30 सेकंड तथा लैंडलाइन के लिये 60 सेकंड के लिए होगी. अभी तक भारत में घंटी की कोई न्यूनतम समय सीमा तय नहीं थी. Also Read - अब कम पैसों पर अध‍िक TV चैनल देख पाएंगे कस्‍टमर्स, ट्राई ने ऐसे कम किया टैक्‍स

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की नई व्यवस्था 11 नवंबर से, 4 से 10 नवंबर तक नहीं लिए जाएंगे आवेदन

जियो ने घंटी का अंतराल खुद ही घटाकर 25 सेकंड किया

दूरसंचार कंपनियां कॉल जोड़ने के शुल्क से होने वाली आय का लाभ उठाने के लिये खुद से ही घंटी का समय कम कर दे रही थीं, ताकि अन्य नेटवर्क वाले उपभोक्ता उसके नेटवर्क पर कॉल बैक करने को बाध्य हों. रिलायंस जियो ने घंटी का अंतराल खुद ही घटाकर 25 सेकंड कर दिया है.