IMF cuts India’s growth forecast: अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भारत के आर्थिक विकास का अनुमान लगाया है. इसी बात पर कांग्रेसी नेती पी चिदंबरम ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने ट्वीट कर लिखा की नोटबंदी के वक्त सरकार की आलोचना गीता गोपीनाथ (Gita Gopinath) ने सबसे पहले की थी. चिदंबरम ने लिखा- मुझे लगता है कि हमें आईएमएफ और डॉ. गीता गोपीनाथ पर सरकार के मंत्रियों के हमले के लिए खुद को तैयार कर लेना चाहिए. Also Read - Sunny Leone ने करवाया लाल शॉर्ट ड्रेस में हॉट फोटोशूट, यूजर बोलें- 'फूलों से ज्यादा खूबसूरत हो आप'

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने सोमवार को चालू वित्त वर्ष के लिए भारत के आर्थिक विकास के अनुमान को 4.8% तक कम कर दिया है. साल 2020-21 केमें इसके क्रमश: 5.8 प्रतिशत और 6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है. देश की वृद्धि का अनुमान 2019 में 4.8 प्रतिशत, 2020 में 5.8 प्रतिशत और 2021 में 6.5 प्रतिशत सुधार का अनुमान है.

भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों में फंसे पी चिदंबरम ने ट्वीट किया कि IMF रिएलिटी चेक साल 2019-20 में देश का विकास दर 4.8 प्रतिशत होगी. बता दें कि गीता गोपीनाथ ने कहा था कि भारत में विकास दर “गैर-बैंक वित्तीय क्षेत्र में तनाव और कमजोर ग्रामीण विकास दर” के कारण धीमा हो गया है.गीता गोपीनाथ ने एक इंटरव्यू में कहा कि ग्लोबल ग्रोथ के अनुमान में 80% की गिरावट के लिए भारत जिम्मेदार है.