PM Ujjwala Yojana End: अगर आप एलपीजी गैस कनेक्शन लेने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपके पास इसे बिल्कुल मुफ्त पाने का अवसर है. प्रधानमंत्री उज्जवला योजना या पीएमयूवाई (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana-PMUY) के तहत आप फ्री में एलपीजी गैस कनेक्शन पा सकते हैं. हालांकि, अक्टूबर की पहली तारीख यानि आज से उज्जवला योजना के तहत फ्री एलपीजी गैस कनेक्शन पाने के नियमों में कई बदलाव किए गए हैं. सरकार द्वारा उज्जवला योजना (Ujjwala Yojana) के नियमों में बदलाव कर दिए गए हैं, जिन्हें जान लेना आपके लिए बेहद जरूरी है.Also Read - PM Ujjwala Yojana 2.0: पीएम मोदी ने लॉन्च की PM उज्ज्वला योजना 2.0, कनेक्शन पाने के लिए अब नहीं देना होगा पते का प्रमाण

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पहले प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana) के तहत इस साल के अंत तक मुफ्त एलपीजी सिलेंडर के विस्तार की मंजूरी दी थी, लेकिन अब 1 अक्टूबर से यह एक्सटेंशन खत्म होने जा रहा है. यानि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के तहत मुफ्त में गैस कनेक्शन लेने की प्रक्रिया आज से समाप्त हो रही है. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने PMUY के तहत मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर का लाभ उठाने के लिए सितंबर के अंत तक के विस्तार को मंजूरी दी थी. जिन्होंने 30 सितंबर के पहले इस योजना के लिए अप्लाई किया होगा अब सिर्फ उन्हें ही फ्री कनेक्शन दिया जाएगा. Also Read - PM Ujjwala Yojana 2: पीएम उज्ज्वला योजना में इस बार सिलेंडर-गैस स्टोव भी मिलेंगे फ्री, ऐसे करें आवेदन

2014 में जब से केंद्र में मोदी सरकार आई है वह लगातार किसानों और गरीब तबके के साथ साथ दूसरे वर्गों को भी मजबूत बनाने लिए कारगर प्रयास कर रही है. इस क्रम में पीएम मोदी उज्ज्वला योजना को शुरू किया था. इस योजना के तहत पीएम मोदी ने गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लाखों परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन मुहैया कराया है लेकिन अब इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा. Also Read - Pradhan Mantri Ujjwala Yojana 2021: पीएम मोदी 10 अगस्त को उज्‍जवला 2.0 लॉन्च करेंगे, LPG कनेक्शन के लिए ऐसे करें अप्लाई

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से यह योजना चलाई जा रही थी. यह योजना खासतौर पर गरीब महिलाओं के लिए चलाई जा रही थी. यानि इस योजना का उद्देश्य गरीब परिवारों को मुफ्त में गैस सिलेंडर कनेक्शन देना था, जिसे अब समाप्त कर दिया गया है.