उत्तर प्रदेश सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए अनाज भंडारण के लिए प्रदेश भर में गोदाम बनाने जा रही है. पहले चरण में 5 हजार भंडारण गोदाम बनाने की योजना पर केंद्र ने मुहर लगा दी है. Also Read - Uttar Pradesh News: भदोही में दलित महिला के साथ बलात्‍कार, मामला दर्ज

भूमि के चयन के साथ ही राज्य सरकार गांवों में अनाज भंडारण गोदामों का निर्माण शुरू करेगी. किसानों को अपना अनाज रखने के लिए दूर नहीं जाना होगा. फसल खराब होने की मजबूरी में उसे कम कीमत में भी नहीं बेचना पड़ेगा. Also Read - आग से झुलसकर हुई पत्नी की मौत, पति ने अस्पताल में लगा ली फांसी; ऐसे हुआ दोनों का दर्दनाक अंत

अनाज भंडारण गोदाम बनाने की योजना पर करीब 2500 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इन सभी गोदामों की कुल भंडारण क्षमता करीब 8.60 लाख मीट्रिक टन होगी. इन गोदामों में किसानों के अनाज के साथ ही सरकार भी स्थानीय स्तर पर खरीदे गए अनाज का भंडारण भी कर सकेगी. Also Read - Nepal गए तीन भारतीय नागरिकों पर नेपाली पुल‍िस ने फायरिंग की, एक की मौत, एक गायब

अनाज भंडारण गोदाम की योजना को योगी सरकार गांवों में रोजगार से भी जोड़ने जा रही है. भंडारण निगमों में स्थानीय लोगों को केयर टेकर, संचालक और बाबू के पदों पर संविदा और स्थाई दोनों तरह से रोजगार के अवसर दिए जाएंगे.

(Inputs from IANS)