WPI Inflation: दिसंबर, 2020 में थोक मूल्य सूचकांक (Whole sale price Index) 1.22 फीसदी पर रही, जो नवंबर माह की तुलना में कमी को दर्शाता है. सरकार द्वारा जारी किए आंकड़ों के मुताबिक, नवंबर, 2020 में थोक महंगाई दर 1.55 फीसदी पर थी. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर, 2019 में थोक मुद्रास्फीति 2.76 फीसद पर थी. खाने-पीने की वस्तुओं की कीमतों में कमी से दिसंबर, 2020 में थोक महंगाई दर में गिरावट देखी गई.Also Read - India Gate पर जलनेवाली Amar Jawan Jyoti के विलय मामले पर राहुल गांधी ने जताया विरोध, मिला ये जवाब, जानिए

डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर 2020 में WPI Food Index पर आधारित महंगाई दर 0.92 फीसद पर रह गई. इससे पहले नवंबर, 2020 में खाद्य वस्तुओं की थोक महंगाई दर 4.27 फीसद पर रही थी. Also Read - पेंशनर्स के खाते में जमा किए जाएंगे हजारों रुपये, सरकार ने इस भत्ते को क्रेडिट करने के लिए दी मंजूरी

Also Read - Retail Inflation: खाद्य पदार्थो की ऊंची कीमतों से दिसंबर में बढ़ी महंगाई, RBI के निर्धारित लक्ष्य के करीब पहुंची

गौरतलब है कि खाने-पीने के सामान की कीमतों में कमी से खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर, 2020 में जबरदस्त गिरावट के साथ 4.59 फीसदी पर थी.

खुदरा महंगाई की बात करें, तो पिछले साल दिसंबर में यह 4.59 फीसदी पर थी. सरकार ने बताया कि नवंबर में यह दर 6.93 फीसदी पर थी. इससे पहले सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय ने बताया कि औद्योगिक उत्पादन की इंडेक्स पिछले साल 126.3 पर रही जो कि नवंबर 2019 की तुलना में 1.9 फीसदी कम है. खाने-पीने का सामान सस्ता हाने से खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर में तेजी से घटकर 4.59 फीसदी रह गई. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा मुद्रास्फीति इससे पिछले महीने नवंबर में 6.93 फीसदी रही थी.

सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार खाद्य मुद्रस्फीति दिसंबर 2020 में घटकर 3.41 फीसदी रह गई. जो एक महीने पहले 9.5 फीसदी थी.