नई दिल्ली. अमेरिकी विश्वविद्यालय में पढ़ने की इच्छा रखनेवाले भारतीय स्टूडेंट्स को सही जानकारी मुहैया कराने के लिए अमेरिकी दूतावास ने बुधवार को एक एप लांच किया है. दूतावास ने इसके अलावा अमेरिका में पढ़ाई करने की चाह रखनेवाले भारतीय छात्रों की मदद के लिए और भी कई एप लांच करने की योजना बनाई है. अमेरिकी अर्थव्यवस्था को भारतीय छात्रों से 7.5 अरब डॉलर का फायदा होता है.

दूतावास में उप-सांस्कृतिक मामलों के अधिकारी कार्ल एम. एडम ने कहा, “हम चाहते हैं कि अमेरिकी विश्वविद्यालयों की प्रामाणिक जानकारी भारतीय विद्यार्थियों को उपलब्ध हो.” उन्होंने एजुकेशनलयूएसए इंडिया मोबाइल एप्लिकेशन लांच करते हुए यह बातें कही, जो अमेरिका में अध्ययन के बारे में व्यापक और सटीक जानकारी प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि एजुकेशनल यूएसए की सभी जानकारी को एक फेसबुक पेज पर जोड़ दिया गया है.

वर्तमान में एजुकेशन यूएसए के भारत में सात विद्यार्थी परामर्श केंद्र हैं, जो दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरू और अहमदाबाद में स्थित हैं.

उन्होंने कहा, “हम इन केंद्रों की संख्या बढ़ाने पर काम कर रहे हैं. हम अमेरिकी शिक्षा प्रणाली की प्रामाणिक जानकारी का प्रसार करने और विद्यार्थियों को उनकी आवेदन प्रक्रिया में मदद करने के लिए विश्वसनीय एजेंटों के नेटवर्क का निर्माण करने के लिए भी शोध कर रहे हैं.” दूतावास के अधिकारियों के अनुसार, भारतीय स्टूडेंट्स ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था में 7.5 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष योगदान दिया है.”