नई दिल्ली: छात्रों के जीवन में परीक्षाएं एक अहम किरदार निभाती हैं. सीबीएससी (CBSE) की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं अब 1 महीने से भी कम की दूरी पर हैं और ऐसे में छात्रों के साथ-साथ अभिभावक भी परीक्षा के दबाव में हैं. अक्सर बोर्ड परीक्षाओं के समय माता-पिता बच्चों पर पढ़ाई का प्रेशर बनाना शुरू कर देते हैं. ऐसे में वो छात्र पारिवारिक दबाव और सामाजिक दबाव से जूझते हुए दिमागी संतुलन खो बैठता है. परीक्षाओं के समय माता पिता अपने बच्चों से जितनी उम्मीदें पालते हैं उसे पूरा करवाने के चक्कर में वो अपने बच्चों को हतोत्साहित कर बैठते हैं. अभिभावकों की ऐसी मनोदशा को देख सऊदी अरब के एक स्कूल ने नोटिस जारी कर यह संदेश पहुंचाया है कि परीक्षा के अंक जीवन नहीं होते है. Also Read - Pawri Ho Rahi Hai: राजस्थान पुलिस का मजेदार Video, कहा- ये हमारी लट्ठ और यहां पावरी हो...

TSSPDCL ने जारी किया जूनियर Lineman, JPO, JACO एग्जाम का रिजल्ट, यहां से करें डाउनलोड Also Read - Priyanka Chopra का अपनी किताब Unfinished में बड़ा खुलासा, उस दिन ब्वॉयफ्रेंड को Kiss करने वाली थी और...

दरसअल दम्मन, सऊदी अरब में स्थित इंटरनेशनल इंडियन स्कूल के प्रिंसिपल ने बोर्ड एग्जाम्स से पहले एक नोटिस हर अभिभावक के घर पहुंचाया है जो बीते दिनों से सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. यह सर्कुलर सबसे पहले उस चिंता को संबोधित करता है जो सभी माता-पिता और छात्र परीक्षा से पहले सामना करते हैं. पैरेंट्स को ध्यान में रखते हुए स्कूल द्वारा जारी इस नोटिस में लिखा है “परीक्षा में बैठने वाले छात्रों में अनेकों आर्टिस्ट हैं जिन्हें मैथ्स, केमिस्ट्री वगैरह से मतलब नहीं है. अगर आपका बच्चा परीक्षा में अच्छा अंक लाने में असफल होता है तो आप उनसे उनका आत्मविश्वास ना छीनें. अपने बच्चों को कहें कि रिजल्ट जो कुछ भी आएगा, तुम्हें हम प्यार करते रहेंगे.” Also Read - Hamari Pawri Horai Hai: पार्टी में मस्त हुई लड़की, बोली हमारी 'पावरी' हो रही है...Big Brands भी ले रहे मजे

CSBC ने जारी किया Bihar Police Mobile Squad Constable 2019 का एडमिट कार्ड, इस प्रोसेस से करें डाउनलोड

इस नोटिस को फाजु फारूक द्वारा फेसबुक पर शेयर किया गया था और तब से ही इसे लोगों ने इंटरनेट पर वायरल कर दिया. यकीनन ऐसे स्कूल और ऐसे सोच की आज बहुत जरूरत है. आपको बता दें कि 10वीं और 12वीं की सीबीएससी बोर्ड परीक्षा 15 फरवरी 2020 से शुरू होने वाली है.