पटना: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की 10 वीं (मैट्रिक) के परीक्षा परिणाम शनिवार को घोषित कर दिए गए. इस वर्ष करीब 81 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल हुए हैं. बता दें कि पिछले वर्ष करीब 69 प्रतिशत ही परीक्षार्थी सफल हुए थे. राज्य सरकार के एक प्रमुख स्कूल, सिमुलतला अवसिया विद्यालय, जमुई के सावन राज भारती ने कक्षा 10 की परीक्षा में 486 अंकों (97.2 प्रतिशत) के साथ टॉप किया. सभी शीर्ष तीन टॉपर्स एक ही स्कूल से हैं. Also Read - Bihar Board 10th Social Science Exam Canceled: बिहार बोर्ड ने 10वीं की सामाजिक विज्ञान की परीक्षा रद्द की, सुबह ही लीक हुआ था पेपर

बिहार के शिक्षा विभाग के अपर सचिव आर.के. महाजन और बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर ने परीक्षा परिणाम जारी किया. इसके बाद आनंद किशोर ने संवाददाताओं को बताया कि इस वर्ष 80.73 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल हुए हैं. आनंद ने बताया कि परीक्षा और मूल्यांकन प्रणाली में परिवर्तन करने से परीक्षा परिणाम बेहतर हुए हैं. यहां के छात्रों को अब अन्य राज्यों के कॉलेजों में नामांकन लेने में कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा. Also Read - Bihar Board 10th Exam 2022 Registration: बिहार बोर्ड ने एक बार फिर ओपेन किया 10वीं के लिए रजिस्ट्रेशन, इस Direct Link से करें अप्लाई 

ये हैं टॉप तीन
रैंक 1 – सावन राज भारती – 486 मार्क्स- सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई
रैंक 2 – रौनित राज – 483 मार्क्स- सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई
रैंक 3 – प्रियांशु राज – 481 मार्क्स – सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई Also Read - Bihar D.El.Ed Result 2019 Declared: बिहार बोर्ड ने जारी किया Bihar D.El.Ed 2019 का रिजल्ट, ये है चेक करने का Direct Link

Bihar Board 10th Result 2019: मैट्रिक का रिजल्ट घोषित, इस तरह करें चेक

पिछले साल पास हुए थे 69 प्रतिशत परीक्षार्थी
पिछले वर्ष करीब 69 प्रतिशत ही परीक्षार्थी सफल हुए थे. उन्होंने बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इस वर्ष 21-28 फरवरी के बीच आयोजित की गई थी. इस परीक्षा में करीब 16.60 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे. किशोर ने इस बार पिछले वर्ष की तुलना में अच्छे परिणाम के लिए प्रश्नपत्रों के पैटर्न में बदलाव और शिक्षा के क्षेत्र में चलाई जा रही योजनाओं को श्रेय दिया है.

29 दिनों में परीक्षा परिणाम जारी
उन्होंने कहा कि ’29 दिनों में परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया है, जो बड़ी बात है.’ उन्होंने सभी सफल छात्रों को बधाई देते हुए उन्हें अच्छे भविष्य की शुभकामनाएं दी जबकि असफल छात्रों को और कड़ी मेहनत करने की सलाह दी.