पटनाः बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की ओर से आयोजित इंटरमीडिएट (12वीं) की परीक्षा कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सोमवार से प्रारंभ हो गई. इस परीक्षा के लिए राज्यभर में कुल 1,283 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. इस परीक्षा में राज्यभर से 12 लाख से ज्यादा छात्र-छात्राएं शामिल हो रहे हैं, इसमें छात्रों की कुल संख्या 6,56,654 हैं.Also Read - BSEB 10th, 12th Dummy Admit Card 2022 Released: बिहार बोर्ड ने जारी किया 10वीं, 12वीं का डमी एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि 12वीं की परीक्षा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. परीक्षा में सभी जिलों में दंडाधिकारी, जोनल दंडाधिकारी, सुपर जोनल दंडाधिकारी तैनात किए गए हैं. Also Read - Bihar Board BSEB 10th Registration 2022: एक बार फिर BSEB 10वीं 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन करने की बढ़ी डेट, जानें इससे संबंधित तमाम डिटेल 

कदाचारमुक्त परीक्षा के आयोजन के लिए बोर्ड की ओर से सभी जिला पदाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं. प्रत्येक केंद्र पर पर्याप्त संख्या में स्टैटिक दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है. उन्होंने कहा कि पहली पाली में परीक्षार्थी भौतिकी की परीक्षा दे रहे हैं. Also Read - BSEB OFSS 12th Admission 2021: बिहार बोर्ड 12वीं में एडमिशन के लिए अप्लाई करने के बचे हैं सिर्फ तीन दिन, इस Direct Link से जल्द करें आवेदन

परीक्षार्थियों की सघन तलाशी के बाद ही परीक्षा केंद्रों में प्रवेश दिया गया. परीक्षा प्रारंभ होने के 10 मिनट पहले तक ही परीक्षार्थियों को परीक्षाकक्ष में प्रवेश दी गई. किसी भी तरह के इलेक्ट्रानिक डिवाइस पर रोक लगा दी गई है. समिति ने किसी तरह की समस्याओं को सूचित करने के लिए एक नियंत्रण कक्ष बनाया है. अभिभावक, छात्र या शिक्षा विभाग का कोई पदाधिकारी नियंत्रण कक्ष से कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है.

आनंद किशोर ने कहा कि वैसे परीक्षार्थी, जिनके एडमिट कार्ड में फोटो की त्रुटि हो गई है, उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गई है. जिनके एडमिट कार्ड के फोटो में अगर गड़बड़ी हो या किसी अन्य का फोटो छपा हो तो पहचानपत्र के साथ परीक्षा केंद्र पर पहुंचें. 13 फरवरी तक चलने वाली इस परीक्षा के लिए सभी केंद्रों पर सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं.