नई दिल्ली. इंजीनियरिंग पास और वाणिज्य (कॉमर्स) विषय की योग्यता रखने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी है. ऐसे युवा बिहार सरकार द्वारा आगामी दो से तीन महीनों के दौरान पंचायतों में होने वाली भर्ती में भाग ले सकते हैं. बिहार सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं को मजबूत बनाने के लिए साढ़े 12 हजार से ज्यादा पदों पर संविदा यानी कॉन्ट्रैक्ट पर भर्तियां करने का निर्णय लिया है. मंगलवार को हुई सरकार की कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह निर्णय लिया है. सीएम ने अधिकारियों से कहा है कि वे जल्द से जल्द प्रदेश की सभी पंचायतों के लिए इस भर्ती प्रक्रिया को पूरा करें.

सुशासन राज में डूब रही बिहार की लुटिया, PAI स्कोर में टॉप पर गैर भाजपा राज्य

100 दिनों के अंदर होगी बहाली
बिहार सरकार की कैबिनेट बैठक में पंचायतों में विभिन्न पदों पर बहाली करने का निर्णय लिया गया है. कैबिनेट के निर्णय के अनुसार पंचायतों में 12 हजार 578 पदों पर नियुक्ति की जाएगी. हर पंचायत में कार्यपालक सहायक की नियुक्ति की जाएगी. इसके अलावा बिहार सरकार 4 पंचायतों को मिलाकर एक जूनियर इंजीनियर और एक लेखा सह तकनीकी सहायक की भी नियुक्ति करेगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिया कि कॉन्ट्रैक्ट पर की जाने वाली ये सभी नियुक्तियां अगले 100 दिनों के अंदर पूरी कर ली जाएं.

बिहार में नया शराबबंदी बिल पास, बदले गए गैर जमानती जैसे कई सख्त प्रावधान

प्रशासनिक सुधार के लिए होगी भर्ती
पंचायती राज संस्थाओं को सशक्त करने के लिए की जा रही इन भर्तियों के पीछे सरकार की मंशा लोकतंत्र के सबसे निचले स्तर के प्रशासन को सुधारना है. सरकार की योजना है कि पंचायतों के जरिए होने वाले सभी काम समय पर और गुणवत्ता के साथ पूरे किए जाएं. साथ ही राज्य सरकार की योजनाओं को पंचायतों के जरिए सही तरीके से लागू किया जाए. इसके लिए ही हर पंचायत में एक कार्यपालक सहायक की नियुक्ति की जा रही है. इन सहायकों को कंप्यूटर भी दिए जाएंगे. इनका नियोजन प्रशासनिक सुधार मिशन पैनल के जरिए किया जाएगा.

बिहार की और खबरों के लिए पढ़ें India.com