Bihar Police Recruitment: पुलिस में नौकरी करने के इच्छुक युवाओं के लिए Good News है. बिहार पुलिस में दारोगा और सिपाही के पदों पर बंपर भर्ती (Vacancy for Sub Inspector and Constable) होने वाली है. बिहार सरकार ने पुलिस विभाग में लगभग 30 हजार पदों के लिए भर्ती करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इतनी बड़ी तादाद में इससे पहले बिहार पुलिस में कभी भी खाली पदों को नहीं भरा गया था. सरकार का निर्देश मिलने के बाद पुलिस मुख्यालय ने भर्ती प्रक्रिया की तैयारियां शुरू कर दी हैं. बिहार पुलिस में 22 हजार 500 पदों पर सिपाही और 2 हजार पदों पर चालक सिपाही की भर्ती की जाएगी. इसके अलावा 4586 पदों पर दारोगा की भर्ती होगी. आपको बता दें कि पिछले साल लगभग 10 पदों पर सिपाहियों की भर्ती के लिए आवेदन मांगा गया था, लेकिन अचानक ही यह भर्ती प्रक्रिया रोक दी गई थी.

अगस्त के अंत तक बहाली प्रक्रिया
पटना से प्रकाशित होने वाले अखबार हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार बिहार पुलिस (Bihar Police Recruitment) में इससे पहले कभी भी इतनी बड़ी तादाद में भर्तियां नहीं की गई हैं. लगभग 5 हजार पदों पर दारोगा और 25 हजार सिपाहियों की भर्ती होने से बड़ी तादाद में युवाओं को रोजगार मिलेगा. बिहार पुलिस को सशक्त बनाने की दिशा में राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है. अखबार के मुताबिक, बंपर भर्ती के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद पुलिस मुख्यालय ने कहा कि कम से कम दो चरणों में भर्ती किए जाने की संभावना है. पहले चरण में 2300 दारोगा, 12 हजार सिपाही और 1000 चालक सिपाही के पद पर भर्ती की जाएगी. दूसरे चरण में दारोगा के 2286 पदों और सिपाही के बाकी बचे पदों पर विभाग भर्तियां करेगा.

गौरतलब है कि बिहार पुलिस में दारोगा और सिपाहियों के पद वर्षों से खाली हैं. इन पदों पर जल्द से जल्द भर्ती (Bihar Police Recruitment) प्रक्रिया शुरू करने की मांग अर्से से की जा रही थी. अब जाकर बिहार सरकार ने पुलिस में लगभग 30 हजार पदों को भरने के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया है. इससे पहले वर्ष 2018 में बिहार पुलिस में लगभग 10 हजार पदों पर सिपाहियों की भर्ती के लिए भी युवाओं से आवेदन मांगे गए थे. इसके तहत 9900 सिपाही और 1965 पदों पर फायरमैन की भर्ती की जानी थी. लेकिन अचानक ही सिपाही भर्ती की इस प्रक्रिया को रोक दिया गया था. इसके बाद से ही बिहार पुलिस में खाली पदों को भरने की मांग की जा रही थी.

शिक्षा और रोजगार से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com