Board Exams 2020 :  बोर्ड एग्जाम्स (Board Exams 2020) की डेट जैसे-जैसे नजदीक आती जाती है, वैसे-वैसे स्टूडेंट्स की धड़कनें भी तेज होने लगती हैं. पूरे साल पढ़ाई करने के बाद छात्र-छात्राएं इस कोशिश में लग जाते हैं कि वह कैसे भी करके जल्दी-जल्दी अपना सिलेबस निपटा लें और कुछ भी छोड़ें ना, ताकि परीक्षा के दौरान वह अपना बेस्ट दे सकें. इसी कोशिश में अधिकतर स्टूडेंट अन्य सब्जेक्ट्स छोड़कर सिर्फ साइंस और मैथ्स पर फोकस करने में लग जाते हैं, लेकिन इन सब के बीच छात्रों का अन्य सब्जेक्ट्स पर से ध्यान हटने लगता है और वह सिर्फ साइंस और मैथ्स के रिवीजन में ही जुटे रह जाते हैं, जिसका नतीजा यह होता है कि वह भले ही मैथ्स और साइंस में अपना 100 प्रतिशत देकर आ जाएं, लेकिन अन्य सब्जेक्ट्स के चलते उनके रिजल्ट पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है. ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिनसे छात्र अपने रिजल्ट में काफी सुधार कर सकते हैं. Also Read - CBSE Board 12th Exam 2021 Question Bank Released: CBSE 12वीं बोर्ड परीक्षा का क्वेचन बैंक जारी, इस Direct Link से करें डाउनलोड

मैथ-साइंस ही नहीं आर्ट्स सब्जेक्ट पर भी दें ध्यान:
बोर्ड्स के सभी स्टूडेंट्स में एक समस्या आम होती है और वह है मैथ और साइंस को ज्यादा तवज्जो देना, क्योंकि उन्हें लगता है कि यह सबसे कठिन सब्जेक्ट्स हैं. हालांकि, यह काफी हद तक सही भी है, लेकिन इन सबके बीच यह पूरी तरह गलत है कि छात्र बाकि सब्जेक्ट्स खासकर आर्ट्स सब्जेक्ट को छोड़ सिर्फ मैथ और साइंस पर ही अपना ध्यान लगा दें. छात्रों को अच्छे रिजल्ट के लिए चाहिए कि वह सिर्फ मैथ या साइंस ही नहीं बल्कि आर्ट्स सब्जेक्ट पर भी ध्यान दें, ताकि उनका रिजल्ट प्रभावित ना हो. Also Read - CBSE Board Exam 2021 Latest News: CBSE बोर्ड इस साल परीक्षा पैटर्न और असेसमेंट प्रोसेस में करने जा रहा है ये बदलाव, जानें पूरी डिटेल

UP Board Exam 2020: इस डेट को जारी होगा 10वीं और 12वीं कक्षा का एडमिट कार्ड, देखें एग्जाम का पूरा शेड्यूल Also Read - CBSE Board Exam 2021 Latest News: CBSE बोर्ड 10वीं, 12वीं के इंटर्नल असेसमेंट को लेकर ये है नोटिफिकेशन, जानें लेटेस्ट अपडेट्स 

हिंदी को ना करें अनदेखा:
हिंदी के साथ अक्सर ही छात्र एक गलतफहमी पाल कर रखते हैं कि यह काफी सरल विषय है, लेकिन एक तरह से देखा जाए तो हिंदी में अशुद्धता के कारण छात्रों का परीक्षा परिणाम सबसे ज्यादा प्रभावित होता है. इसलिए कभी भी हिंदी को सरल सब्जेक्ट समझकर इसे अनदेखा ना करें, बल्कि परीक्षा से पहले इसे भी समय दें और पूरे ध्यान से हिंदी का रिवीजन करें, खासकर ग्रामर पोर्शन का. ताकि, परीक्षा में आप अशुद्धता से बच सकें.

इन विषयों से रिजल्ट बनाएं बेहतर:
मैथ-साइंस के साथ ही छात्र संस्कृत, अंग्रेजी और हिस्ट्री पर भी पूरा ध्यान दें. इन सब्जेक्ट्स को आसान समझकर इन्हें पढ़ना ना भूलें, नहीं तो यही आसान सब्जेक्ट आपके रिजल्ट को बुरी तरह प्रभावित कर सकते हैं. इसलिए मैथ-साइंस के साथ इन सब्जेक्ट्स को भी समय दें, ताकि आपको बेहतर परिणाम मिल सकें.