CBSE class 12 exam results announced: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने कक्षा 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस बार कुल पास प्रतिशत 88.78% है. बता दें कि क्लास 12वीं के लिए 12 लाख स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया था. जिनका रिजल्ट आज घोषित किया गया है. Also Read - कृषि विधेयकों पर चर्चा के दंरौन हंगामा, राजनाथ सिंह बोले- आज राज्यसभा में जो हुआ वो दुखद व शर्मनाक था

CBSE class 12 exam results 2020 वेबसाइट पर चेक करने के लिए स्टूडेंट्स cbseresults.nic.in पर जा सकत हैं. बता दें कि इससे पहले सीबीएसई की तरफ से अभी रिजल्ट (CBSE Result 2020) के बारे में कोई कंफर्म तारीख या समय की जानकारी नहीं दी गई थी. Also Read - ट्रंप ने दिए टिकटॉक और वी चैट ऐप को बैन करने के आदेश, अमेरिका में नहीं किये जा सकेंगे डाउनलोड

Image Also Read - CTET Exam Date 2020 : JEE और NEET के बाद क्या अब अक्टूबर में होने जा रही है सीटेट की परीक्षा? जानें क्या है CBSE का ताजा अपडेट

Image

बता दें कोरोना वायरस के चलते इस बार CBSE को 10वीं और 12वीं के कई विषयों की परीक्षाएं टालनी पड़ी थीं. जिसके कारण असेसमेंट के आधार पर छात्रों का रिजल्ट जारी किया जा रहा है. ऐसे में 12वीं के जो छात्र अपने रिजल्ट से खुश नहीं होते हैं, उनके लिए बोर्ड वैकल्पिक परीक्षा आयोजित करने की भी तैयारी कर रहा है. लेकिन, ये परीक्षाएं भी कोरोना संकट के टलने या कम होने के बाद ही आयोजित कराई जाएंगी.

गौरतलब है कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 10वीं और 12वीं कक्षा के रद्द बोर्ड परीक्षा को लेकर मूल्यांकन योजना के संबंध में सीबीएसई द्वारा जारी मसौदा अधिसूचना को स्वीकार कर लिया था. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने मूल्यांकन योजना का विवरण देते हुए शीर्ष अदालत में एक हलफनामा दायर किया था. अधिसूचना के अनुसार जो छात्र तीन से अधिक विषयों में परीक्षाओं में उपस्थित हुए हैं, उनमें से उनके तीन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले विषयों में प्राप्त अंकों का औसत उन विषयों में दिया जाएगा जिनकी परीक्षाएं नहीं आयोजित हो पाई हैं.

सीबीएसई ने कहा था कि, “जिन छात्रों ने केवल 3 विषयों की परीक्षा दी हैं, जिन दो विषयों में उनका सर्वश्रेष्छ प्रदर्शन होगा, उसमें में प्राप्त किए गए अंकों का औसत उन विषयों में दिया जाएगा जिनकी परीक्षा आयोजित नहीं की गई है.” सीबीएसई ने कहा कि कक्षा 12 के ऐसे बहुत कम छात्र हैं, मुख्य रूप से दिल्ली से, जो केवल 1 या 2 विषयों में परीक्षा में शामिल हुए हैं.