CBSE 12th Board Exams: सीबीएसई बोर्ड 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित कर चुका है, हालांकि जो छात्र इन नतीजों से संतुष्ट नहीं है, ऐसे छात्रों को सीबीएसई अब लिखित परीक्षा में बैठने का अवसर देगा. परीक्षा को लेकर सीबीएसई ने सोमवार देर शाम यह अधिसूचना जारी की है. सीबीएसई द्वारा जारी की गई है अधिसूचना के मुताबिक कक्षा 12 के वे छात्र जो शुक्रवार को जारी किए गए नतीजों से संतुष्ट नहीं है, सीबीएसई बोर्ड उन छात्रों को लिखित ऑफलाइन परीक्षा में बैठने का अवसर प्रदान करने जा रहा है. यह परीक्षाएं 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित की जाएंगी.

सीबीएसई के मुताबिक इन परीक्षाओं के बाद छात्रों को मिलने वाले अंकों को अंतिम माना जाएगा. इन परीक्षाओं की डेट शीट फिलहाल जारी नहीं की गई है. सीबीएसई का कहना है कि अगले कुछ दिनों में डेटशीट जारी कर दी जाएगी.

असंतुष्ट छात्रों के अलावा भी शुक्रवार को आए नतीजों के बावजूद छात्रों का एक बड़ा वर्ग ऐसा भी है जिसे 12वीं के बोर्ड रिजल्ट के लिए अभी और इंतजार करना होगा. अगले महीने ऐसे 60 हजार से अधिक ऐसे छात्रों को सीबीएसई 12वीं बोर्ड की ऑफलाइन परीक्षा में शामिल होना होगा. ये सभी नॉन रेगुलर छात्र हैं, जिन्होंने प्राईवेट फॉर्म भरा है.

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक ऐसे 60,443 छात्रों की परीक्षाएं 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी. यानी अब सीबीएसई प्राईवेट छात्रों एवं विशेष फामूर्ले के आधार पर तय किए गए रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों दोनों की ही परीक्षाएं 16 अगस्त से आयोजित करने जा रहा है. जो रेगुलर छात्र अपने नतीजों से असंतुष्ट हैं वे प्राईवेट फार्म भरने वाले छात्रों के साथ परीक्षाओं में शामिल होने सकते हैं.

वहीं विभिन्न स्कूलों के 65184 छात्र ऐसे भी हैं फिलहाल जिनका रिजल्ट तैयार नहीं किया जा सका है. ऐसे छात्रों का रिजल्ट 5 अगस्त तक जारी किया जाएगा. इन छात्रों का पूरा डाटा उपलब्ध न हो सकने के कारण शुक्रवार को इन का रिजल्ट घोषित नहीं किया जा सका था.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने शुक्रवार दोपहर 12वीं का रिजल्ट घोषित किया था. सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए 12वीं के रिजल्ट में कुल 99.37 फीसदी छात्र पास हुए हैं. पास होने वाले छात्रों में 99.13 फीसदी लड़के और 99.67 प्रतिशत लड़कियां हैं.