CBSE Affiliation: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के ऑफिशियल्स ने कहा है कि स्कूलों के लिए एफिलिएशन सिस्टम का पुनर्गठन कर रहा है. इस सिस्टम को पूरी तरह से डिजिटल बना रहा है ताकि कम से कम मानवीय हस्तक्षेप के साथ डेटा एनालिटिक्स पर आधारित हो सके. यह नया सिस्टम 1 मार्च से लागू होगा. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) में व्यवस्थित सुधारों के लिए विभिन्न सिफारिशों के अनुसार पुनर्गठन किया गया है.Also Read - CBSE Board Class 10th 12th Term-1 Result: सीबीएसई ने किया कंफर्म, इस दिन आएगा 10वीं और 12वीं का रिजल्‍ट

CBSE के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा, “बोर्ड NEP में शिक्षा सुधारों की सिफारिशों के अनुसार एफिलिएशन सिस्टम और प्रक्रिया का पुनर्गठन कर रहा है. हालांकि, CBSE एफिलिएशन सिस्टम 2006 से ऑनलाइन है, लेकिन पुनर्गठन प्रणाली पूरी तरह से डिजिटल होगी और कम से कम मानवीय हस्तक्षेप के साथ डेटा एनालिटिक्स पर आधारित होगी.” Also Read - CBSE CTET Answer Key 2021 (Released): सीबीएसई ने जारी की सीटीईटी आंसर की, डायरेक्‍ट लिंक से डाउनलोड करें रेस्‍पोंस शीट

उन्होंने आगे कहा, “पुनर्गठन से CBSE एफिलिएशन सिस्टम, न्यूनतम गवर्नेंस, अधिकतम गवर्नेंस, स्वचालित और डेटा संचालित निर्णयों के लक्ष्य को प्राप्त करने, पारदर्शिता प्राप्त करने, संपूर्ण प्रणालीगत प्रक्रियाओं में अधिक जवाबदेही लाने और त्वरित और निश्चित समय में आवेदनों का निपटान करने में मदद करेगा. त्रिपाठी ने कहा कि बोर्ड जल्द ही पुनर्गठन सिस्टम पर विस्तृत दिशा-निर्देश लेकर आएगा. Also Read - CBSE ने किया कंफर्म, आज जारी नहीं होगा 10वीं और 12वीं के टर्म-1 का रिजल्‍ट

रिवाइज्ड समय-सीमा के अनुसार हर साल एफिलिएशन के नए एफिलिएशन और अपडेट के लिए आवेदन विंडो तीन बार 1 से 31 जून, 1 से 30 जून और 1 से 30 सितंबर तक खुलेगी. त्रिपाठी ने कहा, “एफिलिएशन के विस्तार के लिए आवेदन 1 मार्च से 31 मई से स्वीकार किया जाएगा.  उन्होंने कहा कि अन्य विषयों जैसे कि अतिरिक्त विषय, सेक्शन में वृद्धि, स्कूल का नाम बदलना, सोसाइटी या ट्रस्ट में बदलाव के लिए आवेदन स्वीकार किए जाएंगे.”