CBSE Board Exam 2021 Date: सीबीएसई बोर्ड के प्रमुख विषयों की परीक्षाएं 30 नवंबर (CBSE Board Exam 2021 Date) से शुरू होने जा रही हैं. दूसरे चरण की परीक्षाएं अगले वर्ष मार्च-अप्रैल (CBSE Board Exam 2022) में होनी है. कोरोना या फिर ऐसे किसी भी कारण से दूसरे चरण की परीक्षाएं अगर स्थगित हुईं तो पहले चरण की परीक्षाओं को ही अंतिम मानते हुए इन्हीं परीक्षाओं के आधार पर छात्रों का रिजल्ट जारी किया जाएगा. सबसे बड़ी बात यह कि सीबीएसई परीक्षा के दिन ही परीक्षा पत्रों की जांच और मूल्यांकन (cbse board exam evaluation 2021) प्रक्रिया पूरी कर लेगा. बोर्ड परीक्षाओं का शेड्यूल (cbse board exam 2021 Schedule) पहले ही जारी किया जा चुका है. हालांकि इन परीक्षाओं में अंक कैसे दिए जाएंगे, फेस वन और फेस टू की परीक्षाओं में मार्किंग का संतुलन क्या होगा, प्रैक्टिकल के अंक कैसे मिलेंगे, इन सभी विषयों को लेकर कई छात्रों के मन उलझन है. सीबीएसई ने छात्रों की ये शंकाएं दूर करने का प्रयास किया है.Also Read - Kerala Lottery News: केरल के पेंटर को लॉटरी के टिकट ने बना दिया करोड़पति, जीत गए 12 करोड़ की राशि

सीबीएसई के परीक्षा (cbse board exams) नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि यदि कोविड के कारण दूसरे चरण की परीक्षाएं नहीं हो पाती हैं तो फिर 30 नवंबर से आयोजित की जा रही परीक्षाओं में हासिल किए गए नंबर ही अंतिम माने जाएंगे और इन्हीं के आधार पर रिजल्ट तैयार किया जाएगा. यदि ऐसी कोई स्थिति नहीं आती है और दूसरे चरण की परीक्षाएं आयोजित होती हैं तो फिर दोनों परीक्षाओं के अंक 50 -50 फीसदी के हिसाब से तय किए जाएंगे. इसके अलावा सीबीएसई ने देशभर के सभी स्कूलों को 23 दिसंबर तक प्रैक्टिकल के अंक अपलोड करने का निर्देश जारी किया है. सीबीएसई ने बताया कि परीक्षाएं देश के सभी हिस्सों में आयोजित की जाएंगी. इनमें कोरोना से प्रभावित केरल भी शामिल है. सीबीएसई ने आधिकारिक जानकारी देते हुए बताया कि केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र समेत पूरे देश में सीबीएसई बोर्ड की यह परीक्षाएं आयोजित होने जा रही हैं. Also Read - CBSE 10th 12th Term-2 Exam: क्या तय समय पर ही होगी 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षा? यह है ताजा अपडेट

संयम भारद्वाज ने कहा कि परीक्षाओं के लिए चौकस व्यवस्था की गई है. कोविड से निपटने की तैयारी की गई है. छात्रों को कोई खतरा न हो, इसका भी ध्यान रखा गया है. छात्रों के साथ-साथ परीक्षा लेने वाले अध्यापकों की सुरक्षा की भी व्यवस्था की गई है. सबसे बड़ी बात यह है कि सीबीएसई परीक्षा के दिन ही परीक्षा पत्रों की जांच और मूल्यांकन प्रक्रिया पूरी कर लेगा. Also Read - CBSE term 2 Exam Sample Paper: सीबीएसई ने टर्म 2 परीक्षा के लिए जारी किया सैंपल क्वेश्चन पेपर, जानें कैसे पूछे जाएंगे प्रश्न

सीबीएसई द्वारा जारी किए गए शेड्यूल के मुताबिक, 30 नवंबर सुबह 11 बजकर 30 मिनट से 10वीं बोर्ड के लिए सोशल साइंस की परीक्षा ली जाएगी. 2 दिसंबर को विज्ञान, 3 को गृह विज्ञान, 4 को गणित, 8 दिसंबर को कंप्यूटर एप्लीकेशन, 9 को हिंदी और 11 दिसंबर को इंग्लिश की परीक्षा आयोजित की जाएगी.

12वीं कक्षा के छात्रों के लिए 3 दिसंबर को इंग्लिश की परीक्षा है. 6 दिसंबर को गणित, 7 को फिजिकल एजुकेशन, 8 को बिजनेस स्टडी, 9 को ज्योग्राफी, 10 को फिजिक्स, 11 को साइकोलॉजी, 13 को अकाउंटेंसी, 14 को केमिस्ट्री, 15 को इकोनोमिक्स और 16 को हिंदी की परीक्षा ली जाएगी. 17 दिसंबर को राजनीतिक विज्ञान, 18 को बायोलॉजी, 20 दिसंबर को इतिहास, 21 दिसंबर को कंप्यूटर साइंस और 22 दिसंबर को आखिरी परीक्षा होम साइंस की ली जाएगी.

परीक्षा के दौरान छात्र कोरोना संक्रमित न हो इसकी भी विशेष व्यवस्था की गई है. सीबीएसई के मुताबिक, सभी परीक्षा केंद्रों में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा. एक केंद्र में ज्यादा से ज्यादा 350 छात्र ही परीक्षा दे सकते हैं. छात्रों के बीच छह फीट की दूरी रखी जाएगी. परीक्षा केंद्र में प्रत्येक छात्र व मौजूद शिक्षक को अनिवार्य तौर पर मास्क पहनना होगा.

सीबीएसई बोर्ड की यह परीक्षाएं केवल ऑफलाइन मोड में आयोजित की जा रही हैं. इन परीक्षाओं में ओआरएम शीट का इस्तेमाल जा रहा है. सीबीएसई के मुताबिक, इस बार बोर्ड परीक्षा के छात्रों को 20 मिनट का रीडिंग टाइम दिया गया है. शुरू हो चुकी पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) पूछे जा रहे हैं. सीबीएसई ने सभी स्कूलों एवं परीक्षा केंद्र के लिए नोटिस जारी करते हुए स्पष्ट किया है कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाना अनिवार्य है.

(इनपुट आईएएनएस)