CBSE Board Exam 2021 Latest News: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा कक्षा 12वीं की परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) स्थगित और कक्षा 10वीं की परीक्षा (CBSE Board 10th Exam 2021) को रद्द करने की घोषणा के बाद CBSE ने अब योग्यता-आधारित शिक्षा (CBE) पर अधिक जोर देने का फैसला किया है. बोर्ड (CBSE) वर्ष 2021-22 के लिए परीक्षा और असेसमेंट प्रोसेस (CBSE Board Exam 2021 Assessment Process) में बदलाव करने जा रहा है. इसमें पहले की तरह अंक और परीक्षा की अवधि समान होगी. साथ ही अधिक से अधिक योग्यता-आधारित प्रश्न या प्रश्न जो वास्तविक जीवन / अपरिचित स्थितियों में अवधारणाओं के अनुप्रयोग का आकलन करते हैं, वैसे प्रश्न पत्र शामिल होंगे.Also Read - CBSE Board Class 10th 12th Term-1 Result: उमंग और डिजिलॉकर ऐप पर ऐसे चेक करना अपना परिणाम

CBSE के ट्रेनिंग और स्किल डेवेलपमेंट के निदेशक बिस्वजीत साहा (Biswajit Saha) ने इंडियन एक्सप्रेस.कॉम को बताया, “ कोरोना महामारी ने शिक्षा प्रणाली (Education System) को विभिन्न चुनौतियों और अवसरों से अवगत कराया है. हमलोग सीखने के लिए असेसमेंट से लेकर सीखने के असेसमेंट की ओर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश कर रहे हैं. छात्रों को समस्याओं को हल करने की क्षमता से लैस होना चाहिए और मूल्यांकन को मुख्य रूप से रटे मेमोराइजेशन स्किल्स के परीक्षण से हटना चाहिए जो कि अधिक प्रारंभिक है. यह अधिक योग्यता-आधारित है, जो छात्रों के लिए सीखने और डेवलपमेंट को बढ़ावा देता है और उच्च-क्रम के स्किल का परीक्षण करता है.” Also Read - CBSE Board Exam: सीबीएसई की परीक्षा में पूछा गया गुजरात दंगे से संबंधित सवाल, बढ़ा विवाद

रिवाइज्ड स्कीम के अनुसार कक्षा 11वीं और 12वीं (CBSE Board Exam 2021) के लिए 20 प्रतिशत योग्यता आधारित प्रश्न और 20 प्रतिशत ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न होंगे. योग्यता आधारित प्रश्न बहुविकल्पीय प्रश्नों (MCQs), केस-आधारित प्रश्नों, स्रोत-आधारित एकीकृत प्रश्नों या किसी अन्य प्रकार के रूप में हो सकते हैं. वर्तमान में 70 प्रतिशत प्रश्न लघु उत्तर / लंबे उत्तर प्रकार के होते हैं, लेकिन अब इसे घटाकर 60 प्रतिशत कर दिया जाएगा. उन्होंने आगे कहा, “सिलेबस (CBSE Board Exam 2021 Syllabus) पूरा करने और उच्चतम अंक हासिल करने की दौड़ अभी भी हमारे सिस्टम में दिखाई देती है. हमने कक्षा 9-12वीं के लिए पैटर्न (CBSE Board Exam 2021 Pattern) बदल दिया है क्योंकि अधिकांश स्कूल कक्षा 1-8वीं के लिए परफॉर्मेंस एनालिसिस के लिए एक समान मूल्यांकन रणनीति का उपयोग करते हैं. साहा ने कहा कि इस कदम से एक अच्छा प्रभाव होगा और सिस्टम में समय के साथ सकारात्मक बदलाव आने की उम्मीद है.” Also Read - CBSE 10th 12th Board Exam Date Sheet: सीबीएसई ने जारी की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा की तारीख, यहां देखें कब होगा किस विषय का एग्जाम

कक्षा 9-10 के लिए न्यूनतम 30 प्रतिशत योग्यता आधारित प्रश्न होंगे, वस्तुनिष्ठ प्रश्न 20 प्रतिशत और शेष 50 प्रतिशत लघु उत्तर / दीर्घ उत्तरीय प्रकार के प्रश्न होंगे. वर्तमान स्कीम के अनुसार कक्षा 10वीं के प्रश्न पत्र में 20 प्रतिशत वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न, 20 प्रतिशत केस-आधारित / 20 प्रतिशत स्रोत-आधारित एकीकृत प्रश्न और 60 प्रतिशत लघु उत्तरीय / दीर्घ उत्तरीय प्रकार के प्रश्न होते हैं. बोर्ड (CBSE) ने पहले घोषणा की थी कि कक्षा 10वीं की परीक्षा 2021 रद्द कर दी गई है और छात्रों का मूल्यांकन ऑब्जेक्टिव मानदंडों के आधार पर किया जाएगा, जो अभी प्रोसेस में है. इस बीच, कक्षा 12वीं की परीक्षा को पुनर्निर्धारित किया जाएगा और देश भर में COVID-19 की परिस्थिति में सुधार के बाद नई तारीख की घोषणा की जाएगी.