CBSE Class 12th Board Result 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने आज यानी 17 जून, 2021 को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में CBSE Class 12th Board Result 2021 के लिए मूल्यांकन मानदंड पेश किया है. इसके लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कक्षा 12वीं बोर्ड के रिजल्ट (CBSE 12th Board Result 2021) को तैयार करने के लिए एक फॉर्मूला निकाला है. इसमें बोर्ड (CBSE Board) ने  30:30:40 का फॉर्मूला अपनाया है. इस फॉर्मूले के अनुसार 12वीं के रिजल्ट (CBSE 12th Board Result 2021) में छात्रों को 30 फीसदी वेटेज 10वीं के रिजल्ट को, 30 फीसदी वेटेज 11वीं फाइनल के रिजल्ट को और 40 फीसदी वेटेज 12वीं प्री-बोर्ड के रिजल्ट को दिया जाएगा.Also Read - Pegasus controversy: सुप्रीम कोर्ट ने वकील की खिंचाई की, कहा- प्रधानमंत्री को नोटिस नहीं भेज सकते

गौरतलब है कि इस साल कोरोना की वजह से CBSE ने 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं (CBSE 10th, 12th Board Exam 2021) रद्द कर दी थी. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने 3 जून को CBSE से दो सप्ताह के भीतर अपनी मूल्यांकन योजना प्रस्तुत करने को कहा था. कोर्ट ने तब कहा था कि मूल्यांकन मानदंड के निर्माण के लिए लंबी अवधि की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि देश भर में कई छात्र भारत और विदेशों में कॉलेजों में प्रवेश लेने की प्रतीक्षा कर रहे हैं. इसके अलावा, कोर्ट ने कहा था कि वह अंकों के मूल्यांकन के लिए वस्तुनिष्ठ मापदंडों से गुजरेगा ताकि अगर किसी को आपत्ति हो तो उससे निपटा जा सके. Also Read - पत्नी को टॉर्चर करता है पति, सुप्रीम कोर्ट ने 'हिंदी' में समझाया- सुधर जाओ, वरना...

CBSE ने 4 जून को CBSE Class 12th Board Result 2021 के लिए अच्छी तरह से परिभाषित उद्देश्य मानदंड स्थापित करने के लिए एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया था. 12 सदस्यीय टीम का गठन किया गया और बोर्ड ने कहा कि पैनल 10 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा. लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पैनल ने कुछ दिनों के लिए एक्सटेंशन मांगा था और 14 जून को मूल्यांकन मानदंड पर रिपोर्ट जमा नहीं की गई थी. CBSE कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 को 1 जून, 2021 को प्रधान मंत्री मोदी द्वारा रद्द कर दिया गया था. Also Read - CBSE 10th Board Result: कंपार्टमेंट वाले छात्रों की संख्या में इस साल 88 फीसदी कमी आई