CBSE Compartment Exam 2020: सुप्रीम कोर्ट ने CBSE Compartmental परीक्षा रद्द करने की मांग करने वाले छात्रों के एक समूह द्वारा दायर याचिका को खारिज कर दिया है. जस्टिस एएम खानविल्कर, दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना की पीठ ने कहा कि एक अलग याचिका दायर करने की आवश्यकता है क्योंकि बोर्ड ने इस बारे में स्पष्टीकरण जारी किया है कि उन्हें इन परीक्षाओं को आयोजित करने की आवश्यकता क्यों है? Also Read - No Parking No Car: दिल्ली मे कार लेने से पहले दिखाने होंगे पार्किंग के सबूत वरना नई कार के लिए करना पड़ेगा 15 साल का इंतजार

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने COVID-19 महामारी के बीच CBSE Compartmental Exam आयोजित करने के फैसले को चुनौती देने की मांग करने पर छात्रों के समूह को एक नई रिट याचिका दायर करने के लिए कहा है. हालाँकि बोर्ड ने इन परीक्षाओं के लिए कोई तारीख जारी नहीं की है. इस महीने की शुरुआत में जारी एक नोटिस में CBSE ने कहा, “यदि Compartmental Exam आयोजित नहीं की जाती है, तो बड़ी संख्या में उम्मीदवारों का भविष्य प्रतिकूल रूप से प्रभावित होगा.” बोर्ड ने यह भी कहा कि परीक्षा आयोजित नहीं करने के लिए प्रतिनिधि के रूप में प्राप्त अनुरोधों को CBSE द्वारा स्वीकार नहीं किया जा सकता है. Also Read - CTET Exam Date 2020 : JEE और NEET के बाद क्या अब अक्टूबर में होने जा रही है सीटेट की परीक्षा? जानें क्या है CBSE का ताजा अपडेट


CBSE ने जब सभी बोर्ड परीक्षा आयोजित न करने और बेस्ट ऑफ थ्री फॉर्मूलों के आधार पर रिजल्ट जारी करने का फैसला किया था, तब सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा था कि यह छात्रों को एक परीक्षा के लिए उपस्थित होने का मौका देगा, जब वे नए मूल्यांकन फॉर्मूलों से संतुष्ट नहीं होंगे. कंपार्टमेंट परीक्षा (Compartmental Exam) केवल उन छात्रों के लिए है जो एक या दो परीक्षा में असफल रहे हैं.