CBSE: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं 2020 के बोर्ड परीक्षार्थी को एक मौका दिया है कि वो अपनी मार्क्सशीट में कोई गलती हो तो सुधार करवा लें, नहीं तो आगे उन्हें परेशानी हो सकती है. सीबीएसई ने मार्क्सशीट में सुथार के लिए छात्रों से आवेदन भी मांगे हैं. बता दें कि इस बार रिजल्ट निकलने के साथ ही मार्क्सशीट को ऑनलाइन कर दिया गया था, ऐसे में अगर छात्र के मार्क्सशीट के विवरण में किसी भी तरह की गलती हो गई हो, तो छात्र इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. Also Read - CTET Exam Date 2020 : JEE और NEET के बाद क्या अब अक्टूबर में होने जा रही है सीटेट की परीक्षा? जानें क्या है CBSE का ताजा अपडेट

कोरोना वायरस को देखते हुए बोर्ड ने इस बार विद्यार्थियों को अंकपत्र के त्रुटि सुधार के लिए एक साल का समय दिया है. अंक पत्र में नाम, जन्म तिथि, अभिभावक के नाम, स्कूल नाम आदि में स्पेलिंग मिस्टेक हो तो छात्र बोर्ड को आवेदन कर सकते हैं. बोर्ड द्वारा भेजे गये आदेश सभी स्कूलों को भेज दिया गया है. इसमें जन्म तिथि और नाम की गलतियों का सुधार पहले होगा. Also Read - CBSE Compartment Exam Admit Card 2020 Released: सीबीएसई ने जारी किया कम्पार्टमेंट परीक्षा का एडमिट कार्ड, ये है डाउनलोड करने का Direct Link

बोर्ड का कहना है कि अक्सर अंक पत्र की गलती पर छात्र गंभीर नहीं होते हैं, जब उ्रन्हें जरूरत होती है तभी वो सुधार के लिए बोर्ड पहुंचते हैं. चूंकि मैट्रिक का अंक पत्र बाकी सभी जगहों पर नामांकन लेने में जन्मतिथि का प्रमाण होता है. ऐेसे में मैट्रिक अंक पत्र के सारे विवरण सही होने चाहिए. Also Read - CBSE Compartment Exam 2020: परीक्षा आयोजित होगी या नहीं! इस पर सोमवार को होगा फैसला, जानें पूरी डिटेल

बोर्ड ने कहा है कि अगर साल भर में छात्र अंक पत्र की त्रुटि को सुधार नहीं करवायेंगे तो फिर बोर्ड उन्हें कोई और मौका नहीं देगा. इसके बाद छात्रों को कोर्ट का सहारा लेना होगा, क्योंकि बोर्ड में इस बार कोरोना के कारण त्रुटि में सुधार के लिए साल भर का मौका दिया जा रहा है.