CBSE: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) द्वारा 12वीं बोर्ड के बचे हुए 12 पेपरों की परीक्षा जुलाई के पहले दो हफ्तों में आयोजित करने की संभावना है. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल द्वारा इस सप्ताह रिवाइज्ड परीक्षा शेड्यूल की घोषणा करने की भी उम्मीद की जा रही है. सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि सरकार ने तय किया है कि कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा जेईई मेन की परीक्षा आयोजित होने से पहले समाप्त हो जानी चाहिए. एनआईटी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा 18 से 23 जुलाई के बीच पांच दिनों तक आयोजित की जाएगी. CBSE को इससे पहले अपने बचे हुए परीक्षा को समाप्त करने के लिए कहा गया है. Also Read - CBSE CTET Exam Admit Card 2020: इस दिन जारी हो सकता है एडमिट कार्ड, सिर्फ इतने परीक्षार्थी होंगे एक कक्ष में, ये होंगे बड़े बदलाव

इससे पहले 1 अप्रैल को CBSE ने घोषणा की थी कि वह उन 90 विषयों में से 29 विषयों के लिए परीक्षा आयोजित करेगा, जो देश भर में लॉकडाउन की वजह से पोस्टपोन कर दिए गए थे. कक्षा 10वीं के लिए केवल उत्तर पूर्वी दिल्ली के छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित किया जाएगा, जो दंगों के कारण परीक्षा के लिए उपस्थित नहीं हो सके थे. सीबीएसई कक्षा 12 के लिए व्यावसायिक अध्ययन, भूगोल, हिंदी (कोर), हिंदी (वैकल्पिक), गृह विज्ञान, समाजशास्त्र, कंप्यूटर विज्ञान (पुराना), कंप्यूटर विज्ञान (नया), सूचना अभ्यास (पुराना), सूचना अभ्यास ( नई), सूचना प्रौद्योगिकी और जैव प्रौद्योगिकी की परीक्षा आयोजित करेगा.  इसके अलावा नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के कक्षा 12वीं के छात्रों के लिए नहीं लिए जा सके सभी परीक्षा भी आयोजित किए जाएंगे. Also Read - CBSE Board exam Latest News: CBSE ने दिव्यांग छात्रों को दी बड़ी राहत, अब बोर्ड परीक्षाओं में नहीं होना पड़ेगा शामिल, ऐसे मिलेंगे मार्क्स

सीबीएसई उत्तर पुस्तिका के मूल्यांकन को फिर से शुरू करने पर भी काम कर रहा है, जिसे मार्च में देशभर में लॉकडाउन के कारण रोक दिया गया था. जिन विकल्पों पर विचार किया जा रहा है, उनमें से एक उत्तर पुस्तिका को एग्जामिनर के घर तक पहुंचाना भी है. वहीं 12वीं कक्षा की परीक्षाओं का रिजल्ट भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) जेईई एडवांस के मेरिट सूची जारी होने से पहले अगस्त महीने के अंत तक घोषित किए जा सकते हैं. IIT काउंसलिंग की प्रक्रिया CBSE और संबंधित राज्य बोर्ड के 12 वीं कक्षा की परीक्षा के रिजल्ट पर टिका होता है. IIT JEE एडवांस्ड क्लियर करने वाले उम्मीदवारों को बोर्ड परीक्षा में कम से कम 75 प्रतिशत अंक के साथ पास होना चाहिए. Also Read - सीबीएसई का साइबर सुरक्षा हैंडबुक, बदला लेने के लिए अश्लील सामग्री नहीं, तय हो ऑनलाइन दोस्ती की सीमा