जयपुर. देश के आला अधिकारियों को चुनने वाली प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा 2018 के शुक्रवार को घोषित परिणाम में शीर्ष दस स्थान पाने वालों में से चार राजस्थान के हैं. जयपुर के कनिष्क कटारिया इस परीक्षा में अव्वल रहे हैं और बीते चार साल में यह दूसरा मौका है जबकि किसी दलित ने यह परीक्षा टॉप की है. इससे पहले 2015 में टीना डाबी पहले नंबर पर रही थीं.

संघ लोकसेवा आयोग ने शुक्रवार रात परिणाम जारी किए. इनमें जयपुर के कनिष्क कटारिया को पहली रैंक मिली है. इसके अलावा जयपुर के ही अक्षत जैन दूसरे, अजमेर के श्रेयांस कूमट चौथे तथा नीमकाथाना सीकर के शुभम गुप्ता छठे स्थान पर हैं. बता दें कि साल 2013 में जयपुर के गौरव अग्रवाल इस परीक्षा में अव्वल रहे थे.

राज्य के 20 छात्र
परीक्षा में प्रदेश से लगभग 20 प्रत्याशी सफल रहे हैं. पहले स्थान पर रहे कनिष्क आईआईटी मुंबई से बीटेक के बाद कोरिया में एक मोबाइल कंपनी में नौकरी करने चले गए थे. लेकिन सिविल सेवा में जाने की ललक में उन्होंने पूरे मनोयोग से तैयारी की. उनके पिता सांवरमल भी आईएएस अधिकारी हैं.

आईआईटी गुवाहाटी से पढ़े हैं अक्षत
दूसरे स्थान पर रहे अक्षत जैन आईआईटी गुवाहाटी से पढे हैं. उनके पिता डीसी जैन आईपीएस हैं और अक्षत का परीक्षा में यह दूसरा प्रयास था. आडिट और एकाउंट सेवा में कार्यरत शुभम गुप्ता ने चौथे प्रयास में छठी रैंक हासिल की है. इसी तरह परीक्षा में अलग अलग रैंक पाने वालों में जयपुर की खुशबू लाठर, अक्षय काबरा व हनुल चौधरी का भी नाम है.