नई दिल्ली : युवाओं को क्या चाहिए? युवा क्या चाहते हैं? परिवार और अपनी की जरूरतें पूरी करने के लिए क्या चाहिए? गांवों से शहर की ओर पलायन क्यों हो रहा है? इन सब प्रश्नों का सिर्फ एक उत्तर है रोजगार यानी Jobs. रोजगार है तो हम अपनी और परिवार की जरूरतें पूरी कर सकते हैं, इसी रोजगार (Rojgaar) की तलाश में गांवों से शहर की ओर पलायन हो रहा है और हर युवा पढ़ाई खत्म होते ही रोजगार की तलाश में निकल जाता है. सरकारें अपनी तरफ से रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए तमाम तरह की कोशिशें करती हैं, लेकिन सच्चाई यह भी है कि देश में लाखों लोग बेरोजगार हैं. इसी समस्या को हल करने के लिए एक पोर्टल जल्द ही लॉन्च होने वाला है.Also Read - अरविंद केजरीवाल ने कहा- पंजाब के CM मुझे गाली दे रहे हैं, मेरा रंग काला, लेकिन नीयत साफ है

आपको ज्ञात होगा कि दिल्ली सरकार ने पिछले साल रोजगार बाजार पोर्टल (Rojgaar Bazar Portal) लॉन्च किया था. इस पोर्टल के माध्यम से युवाओं को रोजगार के अवसर मिलते हैं और छोटे व मझोले कारोबारियों को स्किल्ड कर्मचारी मिल जाते हैं. अब सरकार रोजगार बाजार 2.0 पोर्टल पॉन्च करने जा रही है, जो एंट्री लेवल की जॉब्स (Entry Level Jobs) के लिए एक डिजिटल जॉब मैचिंग प्लेटफॉर्म (Digital Job Matching Platform) होगा. Also Read - पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा 'काले अंग्रेज', केजरीवाल बोले, 'लेकिन नीयत साफ है'

रोजगार बाजार 1.0 (Rojgaar Bazar 1.0) से मिले अनुभव के आधार पर और पूरी दिल्ली में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए दिल्ली सरकार ने इस रोजगार पोर्टल को अपग्रेड करने का निर्णय लिया है. अब इस पोर्टल पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के रोजगार भी उपलब्ध होंगे. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने दावा किया कि किसी भी राज्य सरकार द्वारा अपने नागरिकों को सभी रोजगार से संबंधित सेवाओं के लिए जारी किया गया रोजगार बाजार 2.0 अपनी तरह का अनोखा प्लेटफॉर्म होगा. Also Read - Delhi Nursery Admission 2022: Dear Parents, फार्म भरने की डेट आ गई, सारे डॉक्यूमेंट लेकर तैयारी शुरू कर दीजिए

मनीष सिसोदिया ने बताया, ‘रोजगार बाजार 1.0 को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने अगस्त 2020 में उस समय लॉन्च किया था, जब कोविड-19 अपने चरम पर था. यह पोर्टल बेरोजगार युवाओं और दिल्ली के छोटे व्यापारियों के लिए लाइफलाइन साबित हुआ था. इस पोर्टल पर अब तक 14 लाख बेरोजगार लॉगइन कर चुके हैं और 10 लाख रोजगार को रोजगार बाजार पोर्टल पर एडवरटाइज किया गया है. नया रोजगार बाजार 2.0 पोर्टल में स्किल ट्रेनिंग, करियर गाइडेंस और जॉब मैचिंग जैसी सभी सेवाओं को एक जगह लेकर आएगा. यह अपनी तरह का अनोखा डिजिटल प्लेटफॉर्म होगा.’

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘इस प्लेटफॉर्म के जरिए कई अन्य सेवाएं भी मुहैया करवाई जाएंगी. इसमें स्किल डेवलपमेंट, करियर गाइडेंस, स्किल क्रेडेंशियलिंग और ऑटोमेटेड एनालिटिक्स सर्विसेज शामिल हैं, जो रोजगार की तलाश कर रहे लोगों की आजीविका कमाने की क्षमता को बढ़ाने में मदद करेगी. एक तरफ यह स्किलिंग और करियर गाइडेंस रोजगार की तलाश करने वाले उम्मीदवारों को अपनी पसंद के करियर को चुनने और उसमें आगे बढ़ने में बदद करेंगे तो दूसरी तरफ मजबूत एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म सरकार को मजबूत पॉलिसियां बनाने के लिए अच्छी इनसाइट देगा. यह लाभ आगे चलकर असंगठित क्षेत्र के कामगारों को भी मिलेगा. क्योंकि असंगठित क्षेत्र के ज्यादातर कामगारों की डिजिटल प्लेटफॉर्म तक पहुंच नहीं है, इसलिए दिल्ली सरकार उनके लिए रोजगार बाजार प्लेटफॉर्म के फिजिकल सेंटर बढ़ाएगी.’ (इनपुट – एएनआई)