नई दिल्ली. बारहवीं के बाद बात ग्रेजुएशन में दाखिले की हो या फिर ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन की. रिसर्च पाठ्यक्रमों में दाखिला हो या फिर फेलोशिप को लेकर जानकारी आपकी हर मुश्किल का हल आगामी 9 जून, रविवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के दयाल सिंह कॉलेज में उपलब्ध रहेगा. जी हां, यूथ यूनाइटेड फॉर विजन एंड एक्शन ( युवा, YUVA) एनजीओ के उदय इनिशिएटिव के अंतर्गत रविवार को डीयू, जेएनयू, इग्नू व आईपी यूनिवर्सिटी सहित कई अन्य विश्वविद्यालययों के विशेषज्ञ दाखिले की हर मुश्किल का हल लेकर उपलब्ध रहेंगे. Also Read - BHU Entrance Exam: मंगलवार से एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे अभ्यर्थी, UGC की नियमों का करना होगा पालन

मुख्य रूप से 12वीं की परीक्षा में पास विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए आयोजित इस करियर काउंसलिंग सत्र में ग्रेजुएशन व पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद के अवसरों पर भी परमर्श का अवसर उपलब्ध रहेगा. युवा नामक संगठन के ‘उदय’ इस इनिशिएटिव के जरिये विद्यार्थियों को 12वीं कक्षा के बाद कॉलेज में एडमिशन और पाठ्यक्रम संबंधी हर जानकारी प्रदान की जाएगी. जिन विद्यार्थियों ने हाल ही में 12वीं कक्षा की परीक्षा पास की है और वे अपने करियर को लेकर असमंजस की स्थिति में हैं, वे 9 जून को दयाल सिंह कॉलेज के ऑडिटोरियम में सुबह 10 बजे बाद पहुंचकर इस काउंसलिंग के अवसर का लाभ उठा सकते है. स्टूडेंट्स इस इवेंट के बारे में युवा की वेबसाइट yuva.net.in पर जाकर विस्तृत में जानकारी ले सकते हैं. Also Read - शीतकालीन सेमेस्टर के लिए 82 प्रतिशत छात्रों ने पंजीकरण कराया: जेएनयू कुलपति

सभी प्रमुख कॉलेजों के संबंध में छात्रों को परामर्श की सुविधा देंगे
युवा संगठन के मुताबिक उदय इनिशिएटिव के जरिए दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, अंबेडकर विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय और दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय समेत सभी प्रमुख कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के संबंध में छात्रों को परामर्श की सुविधा उपलब्ध रहेगी. युवा संगठन के इस करियर काउंसलिंग सत्र में जेएनयू के रजिस्ट्रार, इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के उप रजिस्ट्रार, हिमगिरी जी यूनिवर्सिटी के कुलपति समेत हंसराज कॉलेज, दौलत राम कॉलेज, पीजीडीएवी कॉलेज और दयाल सिंह कॉलेज के प्रिंसिपल और एसआरसीसी कॉलेज के प्रोफेसर विशेषज्ञ के रूप में शामिल होंगे. ये कॉउंसलिंग निःशुल्क होगी. Also Read - जेएनयू की बिगड़ती स्थिति के कारण वहां के शिक्षकों को भर्ती करने से IIT दिल्ली का इनकार