बोर्ड ऑफ स्‍कूल एजुकेशन हर‍ियाणा (BSEH) बोर्ड अपनी ऑफ‍िश‍ियल वेबसाइट पर 21 मई यानी आज 10वीं का र‍िजल्‍ट जारी कर सकता है. इसकी जानकारी बोर्ड के अध‍िकार‍ियों ने दी है. हर‍ियाणा बोर्ड के तहत 10वीं की परीक्षा देने वाले छात्र ऑफ‍िश‍ियल वेबसाइट bseh.org.in पर अपना र‍िजल्‍ट देख सकते हैं. Also Read - BSEH Class 10th,12th Supplementary Result 2020 Declared: हरियाणा बोर्ड ने जारी किया सप्लीमेंट्री का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

Also Read - Haryana TET 2020 के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू, ये है अप्लाई करने की आखिरी तारीख, इस दिन जारी होगा Admit Card 

ऐसे चेक करें अपना र‍िजल्‍ट:- Also Read - हरियाणा बोर्ड ने 10वीं में विकलांग छात्रा को गणित में दिए केवल 2 अंक, पुनर्मूल्यांकन के बाद मिले 100 अंक  

1) ऑफ‍िश‍ियल वेबसाइट http://bseh.org.in/home.html पर लॉग इन करें.

2) Result tab पर क्‍ल‍िक करें.

3) र‍िजल्‍ट के लि‍ए द‍िए गए लि‍ंक पर क्‍ल‍िक करें.

4) अपना रोल नंबर और नाम एंटर करें.

5) Find Results पर क्‍ल‍िक करें.

6) अपना र‍िजल्‍ट देखें और उसका प्र‍िंंटआउट भी लें.

Bihar Board BSEB Result 2018: इस सप्‍ताह जारी हो सकता है 10वीं और 12वीं का र‍िजल्‍ट

हर‍ियाणा बोर्ड 10वीं की परीक्षा 8 मार्च से शुरू होकर 30 मार्च तक चली थी. इसमें 383,499 छात्र शाम‍िल हुए. साल 2017 में 318,000 छात्रों ने परीक्षा दी थी, ज‍िसमें 175,000 लड़के और 143,000 लड़क‍ियां शाम‍िल थीं. परीक्षा देने वाले छात्रों में स‍िर्फ 50.49% छात्र ही पास हो सके.

इस साल 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा के दौरान एजुकेशन बोर्ड ने 4,976 अनफेयर मीन्‍स केस (UMC) रज‍िस्‍टर क‍िए. हालांक‍ि इस साल च‍िट‍िंग के मामले थोडे कम आए. प‍िछले साल बोर्ड ने 5,300 छात्रों को चोरी करते हुए पकड़ा था.

हर‍ियाणा बोर्ड ने 18 मई को 12वीं कक्षा का र‍िजल्‍ट जारी क‍िया है, ज‍िसका पास पर्सेंटेज 63.84 फीसदी रहा. 12वीं के नतीजों में लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहा. लड़कियों का पास पर्सेंटेज जहां 72.38 प्रतिशत रहा. वहीं लड़कों का 57.10 प्रतिशत रहा.

वहीं शहरों के मुकाबले 12वीं के ग्रामीण छात्रों का रिजल्ट बेहतर रहा. गांव के छात्रों का पास पर्सेंटेज 64.75 फीसदी रहा, जबकि शहरी क्षेत्र का पास पर्सेंटेज 62.04 प्रतिशत रहा. हालांकि सरकारी स्कूलों और निजी स्कूलेे के प्रदर्शन में बहुत कम अंतर देखा गया. सरकारी स्कूलों का पास पर्सेंटेज 63.62 फीसदी रहा, वहीं निजी स्कूलों ने 64.06 प्रतिशत पास पर्सेंटेज हासिल किया.