Haryana Board will Cut Syllabus: कोरोना वायरस महामारी के कारण पढ़ाई में हुए नुकसान की भरपायी के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने वर्तमान शैक्षिक सत्र में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के पाठ्यक्रम में कमी करने का फैसला किया है. शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा कि सरकार ने विद्यालयी शिक्षा बोर्ड को गुरुग्राम के राज्य शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के साथ समन्वय स्थापित कर एक समिति का गठन करने का निर्देश दिया है जो पाठ्यक्रम में कमी को लेकर कार्य करेगी. Also Read - रक्षाबंधन पर महिलाओं को हरियाणा सरकार का तोहफा, राज्य में खोले जाएंगे 10 नए महिला कॉलेज

उन्होंने कहा कि सरकार मानती है कि कोरोना वायरस हालात के चलते छात्रों को किसी तरह का मानसिक दबाव अथवा बोझ महसूस नहीं होना चाहिए. मंत्री ने कहा कि निर्णय लेने के दौरान यह एक बड़ा कारक था, जिसे संज्ञान में लिया गया जो बोर्ड से संबद्ध सभी स्कूलों पर लागू होगा. उन्होंने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाया गया पाठ्यक्रम भी इस पाठ्यक्रम में शामिल होना चाहिए. Also Read - HBSE Haryana Board 12th Result 2020 Topper: हरियाणा बोर्ड 12वीं के तीनों स्ट्रीम में बेटियों ने किया टॉप, पास प्रतिशत में भी रहा दबदबा, जानें डिटेल

इससे पहले कोरोना वायरस महमारी की वजह से विद्यालयों के बंद रहने के मद्देनजर गोवा माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (जीबीएसएचएसई) 2020-2021 के लिए 10वीं एवं 12वीं कक्षाओं के पाठ्यक्रमों को कम करने पर विचार कर रहा है. जीबीएसएचएसई अध्यक्ष रामाकृष्णन सामंत ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि बोर्ड किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले ‘प्रिंसिपल फोरम’ और ‘गोवा हेडमास्टर्स एसोसिएशन’ के विचारों को ध्यान में रखेगा. Also Read - HBSE Haryana Board 12th Result 2020 Topper: हरियाणा बोर्ड 12वीं के आर्ट्स स्ट्रीम में मनीषा ने किया टॉप, कुल 80.34% छात्र हुए पास