UGC revise Exam & Academic Calendar: केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) से कहा है कि इंटरमीडिएट और टर्मिनल सेमेस्टर परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर के लिए पूर्व में जारी गाइडलाइंस को रिवाइज करें. उन्होंने कहा कि रिवाइज गाइडलाइंस शिक्षकों, छात्रों और कर्मचारियों के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किया जाना चाहिए. एचआरडी मंत्री ने यह सलाह देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के देखते हुए दी है. Also Read - सीएम अमरिंदर सिंह ने फाइनल परीक्षाओं को लेकर मोदी को लिखा पत्र, कहा- UGC के निर्देश की हो समीक्षा

HRD मंत्री ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, “मैंने @ugc_india को इंटरमीडिएट और टर्मिनल सेमेस्टर परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर के लिए पहले जारी किए गए गाइडलाइंस को फिर से जारी करने की सलाह दी है. रिवाइज्ड गाइडलाइंस में छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों की स्वास्थ्य और सुरक्षा को प्रमुखता दी गई है.” Also Read - UGC Guidelines: ममता बनर्जी ने कहा- फाइनल परीक्षा पर यूजीसी के दिशानिर्देशों का छात्र हितों पर होगा विपरीत असर 


इससे पहले UGC ने जारी अपने परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर में कहा था कि जुलाई में फाइनल सेमेस्टर के छात्रों की परीक्षा आयोजित की जाएगी. साथ ही यह भी कहा था कि फ्रेशर्स के लिए नया शैक्षणिक सत्र सितंबर से विश्वविद्यालयों में शुरू हो सकता है और जो छात्र अगस्त में पहले से ही पंजीकृत हैं. UGC ने कहा था, “इंटरमीडिएट के छात्रों को वर्तमान और पिछले सेमेस्टर के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर ग्रेड दिया जाएगा. जिन राज्यों में COVID-19 की स्थिति सामान्य हुई है, वहां जुलाई के महीने में परीक्षा होगी. टर्मिनल सेमेस्टर के छात्रों के लिए परीक्षा जुलाई में आयोजित की जाएगी.”