भिवानी: हरियाणा सरकार ने हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा ली जाने वाली हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटीईटी) के प्रमाण-पत्र की वैधता पांच साल से बढ़ाकर सात साल कर दी है. इससे संबंधित प्रस्ताव को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंजूरी दे दी है.

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि गत दिनों हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटीईटी) के प्रमाण-पत्र की अवधि बढ़ाने के लिए बैठक हुई थी. इसमें केन्द्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) की तर्ज पर हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटीईटी) के प्रमाण-पत्र की वैधता को सात साल करने का फैसला किया गया.

वर्ष में एक बार अध्यापक पात्रता परीक्षा आयोजित करता है हरियाणा
उल्लेखनीय है कि इस परीक्षा को आयोजित करने का उद्देश्य देश में शिक्षा के गिरते मापदंडों में सुधार करते हुए गुणवत्तापरक शिक्षकों की तलाश करना है ताकि देश व राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता बनी रहे. हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड, भिवानी वर्ष में एक बार हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटीईटी) आयोजित करता है.