देहरादून: आईआईटी, रुड़की ने धुंध भरे मौसम की स्थिति में सुचारू रूप से वाहन चलाने और दुर्घटनाओं को कम करने के लिए एक प्रणाली विकसित की है. आईआईटी-रुड़की की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि अनुसंधानकर्ताओं की एक टीम ने कम दृश्यता की स्थिति में बेहतर ढंग से गाड़ी चलाने के लिए एल्गोरिदम विकसित किया है. Also Read - हिमाचल में भारी बारिश में IIT के 35 छात्र लापता, कई हाईवे प्रभावित

हर साल कोहरे के कारण सैकड़ों सड़क दुर्घटनाएं होती हैं. अनुसंधान का प्रकाशन आईईईई (इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर्स) ट्रांजेक्शन ऑन इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम्स की पत्रिका में किया गया है. अनुसंधानकर्ताओं में से एक ब्रजेश कुमार कौशिक ने कहा, ‘‘इस अनुसंधान का उद्देश्य रियल-टाइम डिफॉगिंग के लिए एक प्रणाली तैयार करना था, जो कोहरे के इनपुट फ्रेम से एक स्पष्ट छवि का निर्माण करता है.’’ Also Read - ABB ने IIT रूड़की के साथ किया ये करार, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को मिलेगी राह

आईआईटी-रुड़की के निदेशक अजित कुमार चतुर्वेदी ने कहा, ‘‘कोहरे के कारण खराब दृश्यता के चलते वाहनों के टकराने से प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में घातक दुर्घटनाएं होती हैं. यह उन्नत प्रणाली चालकों को वास्तविक समय की जानकारी प्रदान करने और कोहरे के कारण सड़क और रेल दुर्घटना के जोखिम को कम करने में सहायता करेगी.’’ Also Read - देश में बड़े संस्थाओं के प्रमुख के लिए नहीं हैं 'सक्षम' लोग? जानिए क्या है पूरा माजरा...