Indian Coast Guard AC Admit Card 2021 Released:  भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) ने 02/20 बैच (SRD) के तहत जनरल ड्यूटी शाखा के लिए असिस्टेट कमांडेंट (ग्रुप ‘ए’ राजपत्रित अधिकारी) के पदों के लिए प्रीलिम्स परीक्षा (Indian Coast Guard AC Recruitment Exam 2021) का एडमिट कार्ड (Indian Coast Guard AC Admit Card 2021) जारी कर दिया है. उम्मीदवार जो इन पदों के लिए आवेदन किए हैं, वे Indian Coast Guard की आधिकारिक वेबसाइट joinindiancoastguard.gov.in पर जाकर अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.Also Read - ICG Assistant Commandant Exam 2021: इंडियन कोस्ट गार्ड में निकली ग्रुप ए की भर्ती, 12वीं पास और स्नातक उम्मीदवार करें आवेदन

उम्मीदवार Indian Coast Guard AC Admit Card 2021 06 जनवरी से 10 जनवरी 2021 तक डाउनलोड कर सकते हैं. इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://joinindiancoastguard.gov.in/reprint.aspx पर क्लिक करके अपना एडमिट कार्ड (Indian Coast Guard AC Admit Card 2021) डाउनलोड कर सकते हैं. साथ ही नीचे दिए गए इन स्टेप्स को फॉलो करके भी अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं. Also Read - Indian Coast Guard Recruitment 2021: इंडियन कोस्ट गार्ड में इन विभिन्न पदों पर आवेदन करने की कल है अंतिम डेट, 10वीं, 12वीं पास करें अप्लाई, मिलेगी अच्छी सैलरी 

Indian Coast Guard AC Admit Card 2021 ऐसे करें डाउनलोड Also Read - Indian Coast Guard Recruitment 2021: 10वीं पास के लिए इंडियन कोस्ट गार्ड में निकली बंपर वैकेंसी, जल्द करें आवेदन, 36000 होगी सैलरी

Indian Coast Guard की joinindiancoastguard.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
एक नई विंडो खुलेगी जहां आपको अपना पंजीकरण नंबर या ईमेल आईडी और जन्मतिथि दर्ज करनी होगी.
कोड दर्ज करके उस लिंक पर क्लिक करें, जहां ‘Get Details’ लिखा हो.
Indian Coast Guard AC Admit Card 2021 डाउनलोड करें.

इंडियन कोस्ट गार्ड (Indian Coast Guard) AC की परीक्षा 20 जनवरी से 20 फरवरी 2021 तक आयोजित किया जाएगा. इंडियन कोस्ट गार्ड एसी प्रारंभिक चयन टेस्ट (Indian Coast Guard AC Recruitment Exam 2021) में मेंटल एबिलिटी टेस्ट / कॉग्निटिव एप्टीट्यूड टेस्ट और पिक्चर परसेप्शन एंड डिस्कशन टेस्ट (पीपी एंड डीटी) शामिल होंगे. एप्टीट्यूड टेस्ट केवल अंग्रेजी में होंगे और वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे. PP & DT के दौरान उम्मीदवारों से अंग्रेजी में बोलने और चर्चा करने की अपेक्षा की जाती है. हालाँकि, यदि वे ऐसा नहीं करना चाहते हैं तो वे हिंदी में बोलने के लिए स्वतंत्र हैं.