मुंबई: जेईई एडवांस 2018 का रिजल्ट जारी कर दिया गया है. इस साल जेईई 2018 एडवांस परीक्षा में 18,138 छात्रों ने क्वालिफाई किया है. रविवार को जारी होने वाले JEE Advanced 2018 के नतीजों ने सभी को हैरान कर दिया. क्योंकि पिछले साल के मुकाबले इस साल क्वालिफाई करने वाले छात्रों की संख्या आधे से भी कम है. साल 2017 में कुल 50,455 छात्रों ने जेईई एडवांस की परीक्षा क्वालिफाई की थी. जबकि इस साल सिर्फ 18,138 छात्र ही पास हो सके हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या इस साल परीक्षा के लिए पिछले साल के मुकाबले कम छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया. क्या देश के प्रमुख इंस्टीट्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी में मौजूद सीटों को भरने के लिए यह आंकड़ा काफी होगा. बता दें कि IIT JEE Advanced 2018 के रिजल्ट आने के बाद 15 जून से काउंसिलिंग शुरू हो जाएगी. इसके लिए IIT कानपुर ने http.//josaa.ac.in वेबसाइट लांच की है.

इस साल 360 में 337 अंक लाकर पंचकुला हरियाणा के प्रणव गोयल ने परीक्षा में टॉप किया है. टॉप-10 में आने वाले 10 छात्रोंं में 5 कोटा के हैं. बता दें कि कोटा को जेईई एडवांस की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए मक्का कहा जाता है. इस साल पहली बार जेईई एडवांस में शारीरिक रूप से विकलांग श्रेणी के दो छात्रों ने भी क्वालिफाई किया है. लय जैन ने ऑल इंडिया 9वां रैंक हासिल किया है और नील गुप्ता ने ऑल इंडिया 10वां रैंक प्राप्त किया है.

JAC 10th Result 2018: झारखंड एकेडमिक काउंसिल आज जारी कर सकता है मैट्रिक का रिजल्ट, ऐसे चेक करें

आईआईटी रूरकी के जेईई एडवांस चेयरमैन एमएल शर्मा ने कहा कि यह बहुत ही खुशी और आश्चर्य की बात है कि दो लड़कों ने तमाम परेशानियों को दरकिनार कर टॉप रैंकिंग में जगह बना ली है.

इस बारे में जब अधिकारियों से पूछा गया कि पिछले साल के मुकाबले इस साल पास होने वाले छात्रों की संख्या में इतनी भारी गिरावट क्यों है तो आईआईटी कानपुर के जेईई एडवांस चेयरमैन प्रो. शलभ एस ने कहा कि इस साल क्वालिफाइंग स्कोर इस साल पहले से तय था. बहुत कम छात्रों ने इस साल हर विषय में 10 प्रतिशत अंक और एग्रीगेट 35% हासिल किया. देशभर की IITs संस्थानों में जितनी सीटें मौजूद हैं, उसका 1.6 गुना ज्यादा छात्रों को जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई किया गया था. IITs में कुल 11,279 सीटें हैं.

बता दें कि इस साल 2076 छात्राएं क्वालिफायर लिस्ट में शामिल हैं.