JEE Advanced 2020: संकल्प से बढ़कर कोई हिम्मत नहीं होती. ऐसे ही संकल्प के सहारे एक किसान के अठारह वर्षीय बेटे विजय मकवाना (Vijay Makwana) ने संयुक्त भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) में प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE 2020) को पास कर लिया है. उनके पिता अहमदाबाद में नवी अखोल में एक छोटे किसान हैं. मकवाना ने अनुसूचित जाति वर्ग (Scheduled Caste Category) में अखिल भारतीय रैंक 1,849 हासिल की और आईआईटी-खड़गपुर या रुड़की (IIT Kharagpur or IIT Roorkee) से कंप्यूटर या मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा, “मैं मास्टर्स करना चाहता हूं, लेकिन बीटेक पूरा करने के बाद मैं अपने परिवार का सहयोग करने के लिए नौकरी तलाशूंगा.”Also Read - जब आप अच्छा नहीं खेलते हो लेकिन फिर भी जीत जाते हो तो मजा आता है: MS Dhoni

विजय की पारिवारिक वार्षिक आय 50,000 रुपये से कम है और अपने सपनों को पूरा करने के लिए उन्हें हर तरह से कठिन संघर्ष करना पड़ता है. उन्होंने कहा, “मेरे पिता के लिए तीन बच्चों की शिक्षा का वित्तपोषण करना आसान नहीं था. हालाँकि, वे जानते थे कि गरीबी के चक्र को तोड़ने का एकमात्र तरीका शिक्षा है. उन्होंने IIT में प्रवेश के लिए अपने सपने को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की.” उनके बड़े भाई ने गुजरात सरकार के छात्रवृत्ति कार्यक्रम के सहयोग से इंडस विश्वविद्यालय, अहमदाबाद से एम टेक पूरा किया है. प्री-नर्सरी से विजय (Vijay Makwana) की पूरी शिक्षा अहमदाबाद स्थित संगठन, विसमो किड्स फाउंडेशन द्वारा समर्थित थी. अपनी तैयारी के बारे में विजय ने कहा, “कोचिंग संस्थान के नियमित अध्ययन और निम्नलिखित कक्षाओं ने मेरी मदद की. पाठ्यक्रम सामग्री और ऑनलाइन मॉक टेस्ट (Online Mock Test) ने मुझे प्रवेश परीक्षा को क्रैक करने में मदद की.” इसके अलावा इस गुजराती लड़के ने मैथ्स की तैयारी के लिए जी तिवानी की किताब और फिजिक्स के लिए एचसी वर्मा की किताब से अध्ययन किया. Also Read - IPL 2021: प्लेऑफ में क्वॉलीफाई करने के बाद नंबर 4 पर खेलें MS Dhoni: Gautam Gambhir

राज्य बोर्ड परीक्षा (State Board Exam) और जेईई मेन (JEE Main Exam) में विजय (Vijay Makwana) का प्रदर्शन संतोषजनक नहीं था. उन्होंने कहा, “मैं बोर्ड परीक्षा और प्रवेश परीक्षा की तैयारी के बीच संतुलन नहीं बना सका इसलिए मेरा प्रदर्शन मेन में डूबा.” विजय ने गुजरात माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (GSEB) की कक्षा 12वीं में 65 प्रतिशत अंक हासिल किए और JEE Main में उनकी रैंक 94,382 थी. विजय को क्रिकेट खेलना पसंद है और वह क्रिकेटर एमएस धोनी (MS Dhoni) के संघर्ष और सफलता से प्रेरित है. उन्होंने आगे कहा, “कठिन समय में उनके धैर्य और प्रदर्शन की क्षमता ने मुझे प्रेरित किया. जब मैंने कक्षा 12वीं की परीक्षा और JEE Main में बहुत ही बुरा स्कोर किया तो मैंने धैर्य नहीं खोया. मैंने जेईई एडवांस (JEE Advanced 2020) क्रैक करने के लिए कड़ी मेहनत की.” विजय का उद्देश्य अपने गाँव के अपने से कम उम्र के बच्चों का सहयोग करना है. उन्होंने कहा, “एक बार जब मैंने कमाई शुरू कर दी तो मैं अपने गांव के उज्ज्वल छात्रों का आर्थिक रूप से सहयोग करूंगा. मैं शीर्ष शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश के लिए इंजीनियरिंग के उम्मीदवारों का मार्गदर्शन करूंगा.” Also Read - IPL 2021: ब्रावो ने कही दिल की बात- CSK के लिए प्वाइंट्स जीतना, मैन ऑफ द मैच अवार्ड जीतने से कहीं बड़ा