नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) ने अपने शैक्षणिक कैलेंडर की घोषणा कर दी है. इसमें 31 जुलाई तक परीक्षाएं पूरी करने की समय सीमा तय की गई है. जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार ने शनिवार को कहा कि सभी स्कूलों के डीनों और विशेष केंद्रों अध्यक्षों ने कैलेंडर को सर्वसम्मति से मंजूरी दी है. Also Read - Breaking: दिल्ली हिंसा केस में जेल गए उमर खालिद को मिली जमानत, कोर्ट ने पुलिस के लिए कही ये बात

उन्होंने कहा, “विद्यार्थियों के अंदाजन 25 से 30 जून के बीच जेएनयू परिसर लौटने की उम्मीद है, ताकि उनके शेष शैक्षणिक कार्य और परीक्षाएं पूरी हो सकें. परीक्षाएं 31 जुलाई तक पूरी होंगी. ” छात्रों के लिए नया सेमेस्टर एक अगस्त से शुरू होगा. भले ही 31 जुलाई तक परीक्षा के परिणाम न आए पाएं, तो भी छात्रों के पास अस्थायी तौर पर पंजीकरण कराने और अगले सेमेस्टर में जाने का मौका होगा. Also Read - CUCAT 2021-22: DU,JNU,BHU सहित सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के लिए एक होगा एंट्रेंस टेस्ट! जानिए क्या है इसको लेकर सरकार की योजना

कुमार ने कहा कि मानसून सत्र की पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन होगी, जिससे छात्रों को सहूलियत होगी और वे घर से ही पंजीकरण करा सकते हैं. शोधार्थियों के लिए अपना शोध कार्य जमा कराने की तारीख 31 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है. कुलपति ने कहा, ” इस वक्त यह शैक्षणिक कैलेंडर निश्चित नहीं है और यह इस बात पर निर्भर करता है कि पूरे देश में चरणों में लॉकडाउन किस तरह से खत्म किया जाता है और यूजीसी से हमें क्या नए दिशानिर्देश मिलते हैं.” Also Read - EX JNU Student Leader Shehla Rashid Attacks Her Father: JNU की पूर्व छात्र नेता शहला राशिद ने कहा- एक दुष्ट व्यक्ति है मेरा बायोलॉजिकल पिता