नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने नीट और जेईई परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने वाले यहां के सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों से शनिवार को संवाद किया.Also Read - अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मुकदमा करेंगे चरणजीत सिंह चन्नी, ये है पूरा मामला

केजरीवाल ने कहा, ‘‘ जिन विद्यार्थियों को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) में प्रवेश मिला है और जो नीट-जेईई परीक्षा में शीर्ष रैंक पर आए हैं वह पूरी सरकारी शिक्षा प्रणाली के ‘रोल मॉडल’ बन गए हैं.’’ Also Read - Punjab विधानसभा चुनाव पर Zee Opinion Poll की खास बातें, किस पार्टी को कितनी सीटें? कौन सबसे पसंदीदा सीएम, जानें सबकुछ

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली 379 लड़कियों सहित कुल 569 विद्यार्थियों ने इस वर्ष राष्ट्रीय अर्हता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) उत्तीर्ण की है. Also Read - Zee Opinion Poll 2022: पंजाब में त्रिशंकु विधानसभा के आसार! AAP हो सकती है सबसे बड़ी पार्टी, SAD को बड़ा फायदा

इसी प्रकार सरकारी स्कूलों के 443 विद्यार्थी इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई-मेन) में सफल हुए हैं और 53 विद्यार्थियों ने जेईई-एडवांस की परीक्षा पास कर आईआईटी की सीट पक्की की है.

पश्चिम विहार स्थित आरपीवीवी स्कूल के पांच विद्यार्थियों ने यह परीक्षा उत्तीर्ण की है जो शहर के किसी एक सरकारी स्कूल से सफलता प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की सबसे अधिक संख्या है. इस दौरान कई विद्यार्थियों ने भी मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री से संवाद किया.