MPBSE 10th Result 2020 Date and Time: मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन, MPBSE आज यानी गुरुवार 2 जुलाई को  कक्षा 10वीं परीक्षा का रिजल्ट की डेट की घोषणा करेगा. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार MPBSE सचिव अनिल सुचारी ने बताया कि रिजल्ट इस सप्ताह जारी होगा, जिसकी घोषणा आज की जाएगी. रिजल्ट की तारीख शाम तक तय की जाएगी. स्कूलों के दोबारा खुलने पर छात्रों को उनकी मार्कशीट उपलब्ध कराई जाएगी. एक बार रिजल्ट घोषित होने के बाद छात्र आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in, mpresults.nic.in के माध्यम से देख सकते हैं.Also Read - MP Board MPBSE 12th Result 2021 Declared: MP Board ने जारी किया 12वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

इस साल कक्षा 10वीं की परीक्षा में लगभग 11.5 लाख छात्र उपस्थित हुए, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण परीक्षा पूरी नहीं की जा सकी. इससे पहले, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आयोजित परीक्षाओं के आधार पर कक्षा 10वीं का रिजल्ट तैयार किए जाएंगे.  जिन विषयों का एग्जाम कैंसिल हो गई है, उन विषय के लिए छात्रों को पास कर दिया जाएगा और उनकी मार्कशीट पर ‘पास’ लिखा होगा. Also Read - MP Board MPBSE 12th Result 2021: MP Board कुछ ही देर में जारी करेगा 12वीं का रिजल्ट, इस Alternative Ways से करें चेक

कक्षा 12वीं की परीक्षाओं की पेपर चेकिंग प्रक्रिया भी जल्द ही पूरी हो जाएगी. कोरोना महामारी के कारण 15 जून को संपन्न हुई उच्च माध्यमिक परीक्षाओं में लगभग 8.5 लाख छात्र उपस्थित हुए थे. 12वीं का रिजल्ट अगले महीने जारी किए जा सकते हैं. एक अधिकारी ने बताया कि दोनों कक्षा 10वीं, 12वीं परीक्षाओं की मार्कशीट की हार्ड कॉपी एक बार फिर स्कूल ओपेन के बाद वितरित की जाएगी. Also Read - MP Board MPBSE 12th Result 2021: MP Board आज इस समय जारी करेगा 10वीं का रिजल्ट, ऐसे करें आसानी से चेक

लंबित एचएस परीक्षाएं जीव विज्ञान, उच्च गणित, रसायन विज्ञान, अर्थशास्त्र, भूगोल, राजनीति विज्ञान पुस्तक-लेखन, और लेखा, व्यावसायिक अर्थशास्त्र, कॉर्पोरेट उत्पादन और बागवानी, पशुपालन, दूध व्यापार, मुर्गी पालन, मत्स्य पालन, जीवन और डिजाइन , भारतीय कला शरीर रचना विज्ञान और स्वास्थ्य का इतिहास, विज्ञान का तत्व, पहला, दूसरा और तीसरा व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए आयोजित किया गया था. पिछले साल, कुल 61.32 प्रतिशत छात्रों ने माध्यमिक परीक्षा उत्तीर्ण की थी जबकि उच्चतर माध्यमिक में 72.37 प्रतिशत सफल हुए थे.