नागालैंड बोर्ड ने 10वीं और 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. रिजल्ट का इंतजार कर रहे छात्र अपना रिजल्ट ऑफिशियल वेबसाइट nbsenagaland.com पर चेक कर सकते हैं. इसके अलावा examresults.net, exametc.com और indiaresults.com पर भी रिजल्ट देखा जा सकता है. इस बार सरकारी स्कूलों के मुकाबले निजी स्कूलों का रिजल्ट बेहतर रहा. प्राइवेट स्कूल की 10वीं की लड़कियों ने जहां लड़कों से बेहतर प्रदर्शन किया है, वहीं सरकारी स्कूल के लड़कों ने बेहतर रिजल्ट दिया है. Also Read - HSLC Exam Result 2018: बस कुछ देर में ही resultsassam.nic.in पर जारी होने वाला है 10वीं का रिजल्ट

Also Read - NBSE Result 2018: नागालैंड बोर्ड ने जारी किया 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

इन्होंने किया टॉप Also Read - Nagaland Board NBSE results 2018: आज दोपहर 12 बजे आएंगे 10वीं, 12वीं के परिणाम, ऐसे चेक करें

बोर्ड द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इस साल कोहिमा स्थित स्कूल मेजहूर हायर सेकेंडरी स्कूल के विवोत्सोनू सोरही ने 98.33 प्रतिशत के साथ 10वीं में टॉप किया है. वहीं होली क्रॉस हायर सेकेंडरी स्कूल की शेरी जिंदल और प्रणब विद्यापीठ हायर सेकेंडरी स्कूल के राज पॉल ने संयुक्ति रूप से दूसरा स्थान हासिल किया है. दोनों ने 97.83% अंक हासिल किए हैं. मेजहूर हायर सेकेंडरी स्कूल के ही लीशेम्बी एनजी लिटिंग ने 97.50% अंक के साथ तीसरा अंक हासिल किया है.

वहीं दूसरी ओर 12वीं कक्षा में डॉन बॉस्को हायर सेकेंडरी स्कूल के बेनरीथुंग एल जुंगियो ने आर्ट्स में 91.40% अंक लाकर टॉप किया है. कॉमर्स में प्रणब विद्यापीठ हायर सेकेंडरी स्कूल की मरीना यशिन ने 97.20% अंक लाकर पहला रैंक हासिल किया है. जबकि साइंस स्ट्रीम में कोहिमा साइंस कॉलेज के विरिएनुओ एमिलिया ने 91.60% स्कोर के साथ टॉप किया है.

CHSE Odisha Board 12th Result 2018: साइंस का रिजल्ट 19 मई कल, ऐसे चेक करें

सरकारी स्कूलों के छात्रों का खराब प्रदर्शन

सरकारी स्कूलों के लिए आर्ट्स स्ट्रीम में ओवरऑल पास पर्सेंटेज 76.19% रहा, जबकि प्राइवेट स्कूलों में पास पर्सेंटेज 82.23% रहा. कॉमर्स स्ट्रीम में सरकारी स्कूलों का पास पर्सेंटेज 66.93% रहा, जबकि प्राइवेट स्कूलों का 81.96% रहा. साइंस स्ट्रीम में ओवरऑल पास पर्सेंटेज सरकारी स्कूला का 83.76% रहा, जबकि प्राइवेट स्कूलों का 89.65% रहा.

इस साल 10वीं की परीक्षा देने वाले सरकारी स्कूलों के छात्रों में लड़कों का पास पर्सेंटेज 42.06 प्रतिशत रहा, जबकि लड़कियों का 39.69 फीसदी. वहीं प्राइवेट का प्रदर्शन सरकारी स्कूलों से बेहतर दिखा. निजी स्कूलों में लड़कों का पास पर्सेंटेज 81.98 प्रतिशत रहा, जबकि लड़कियों का 83.90 फीसदी. सरकारी स्कूलों में जहां 2318 छात्राओं ने परीक्षा दी थी, जिसमें 920 ही पास हो सकीं. वहीं निजी स्कूलों में 7485 लड़कियों ने परीक्षा दी और इसमें 6280 लड़कियां पास हुईं.