आज देशभर में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जा रहा है. इस मौके पर मानव संसाधन एवं विकास मंत्री ने ट्विटर पर ट्वीट किया है कि आइए हम बालिकाओं को शिक्षित करने और उनका पालन पोषण करने का संकल्प करें. जागरुकता फैलाने के लिए और महिलाओं को कम उम्र में ही समान अवसर प्रदान करने के लिए सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे अभियान चला रही है. इसके अलावा सरकार बच्चियों की शिक्षा के लिए विभिन्न प्रकार के स्कॉलरशिप भी देती है. यहां हम उन स्कॉलरशिप की सूची दे रहे हैं, जो सरकार देती है. साथ ही आप यह भी जानिये कि इसके लिए कैसे एप्लाई कर सकते हैं. Also Read - National Girl Child Day 2019: जानें क्‍यों खास होती हैं बेटियां...

Also Read - Richa Chadha delivers to social media with a strong message for National Girl Child Day | 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' के मौके पर ऋचा चड्ढा ने दिया स्पेशल मैसेज, कहा...

प्रगति स्कॉलरशिप: Also Read - Sharad Yadav says Honour of vote comes above honour of daughter | वोट की कीमत बेटी की इज्जत से बढ़कर है: शरद यादव

मानव संसाधन विकास मंत्रालय हर साल इसके तहत 4,000 स्कॉलरशिप देता है. यह स्कॉलरशिप उन छात्राओं को मिलता है, जिनके परिवार की आय सालाना 6 लाख से कम हो. उम्मीदवारों को ग्रेजुएशन के दौरान इसके तहत पढ़ाई के लिए 30,000 रुपये या 10 महीने तक प्रति माह 2000 रुपये दिए जाते हैं.

प्रगति स्कॉलरशिप: कैसे प्राप्त करें

इस स्कॉलरशिप को प्राप्त करने के लिए यह जरूरी है कि उम्मीदवार ने AICTE से मान्यता प्राप्त कॉलेज में दाखिला लिया हो. इस स्कॉलशिप का लाभ परिवार की कोई एक ही छात्रा उठा सकती है. इच्छुक उम्मीदवारा AICTE की ऑफिशियल वेबसाइट aicte-india.org पर जाकर आवेदन कर सकते हैं.

National Girl Child Day 2019: जानें क्‍यों खास होती हैं बेटियां…

स्वामी विवेकानन्द स्कॉलरशिप

स्वामी विवेकानंद एकल बालिका छात्रवृत्ति है, जो पीएचडी थीसिस जमा करने तक पांच साल के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है. इसका लाभ ऐसे लोग उठा सकते हैं, जिनकी सिर्फ एक बेटी ही हो या जिन्हें दो जुड़वा बेटियां हो या ट्रांसजेंडर छात्र भी इसका लाभ उठा सकते हैं. छात्रों को PhD के लिए शुरुआती दो साल प्रति माह 25000 रुपये प्राप्त होते हैं. इसके बाद उम्मीदवारों को प्रति माह 28,000 रुपये प्राप्त करते हैं. इसके अलावा उन्हें दो साल तक 10,000 रुपये का वार्षिक फंड मिलता है, जिसे वह किसी आपातकालीन स्थिति में इस्तेमाल कर सकते हैं. दो साल के बाद उन्हें 20,500 रुपये प्रति वर्ष इस फंड के रूप में मिलता है.

स्वामी विवेकानन्द स्कॉलरशिप: कैसे प्राप्त करें

इस स्कॉलरशिप का लाभ उठाने के लिए छात्रा का PhD प्रोग्राम में दाखिला लेना अनिवार्य है. छात्रा की उम्र 40 वर्ष से ज्यादा ना हो. आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए उम्र सीमा 45 वर्ष है. इच्छुक उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट ugc.ac.in/svsgc/ पर जाकर आवेदन कर सकते हैं.

उड़ान मेंटरशिप

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की उड़ान मेंटरशिप और स्कॉलरशिप के तहत इंडियन इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिला लेने वाली छात्राएं लाभ उठा सकती हैं. इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम, जैसे कि ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE) परीक्षा में शामिल होने जा रहे 11वीं और 12वीं के CBSE छात्रों को नि:शुल्क ट्यूटोरियल प्राप्त होता है.

इस स्कॉलशिप के लिए नवोदय विद्यालय, केंद्रीय विद्यालय, सरकारी स्कूलों और CBSE से मान्यता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राएं आवेदन कर सकती हैं. हां लेकिन इसके लिए कक्षा 10वीं में 70 फीसदी अंक सुरक्षित करना अनिवार्य है. इसका लाभ वही छात्राएं उठा सकती हैं, जिनके परिवार की आय 6 लाख या इससे कम हो.

उड़ान मेंटरशिप: कैसे प्राप्त करें

इच्छुक उम्मीदवार cbse.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं और अपना डिक्लरेशन udaan.cbse@gmail.com पर भेज सकते हैं.

करियर संबंधी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com