NEET 2021 Exam: नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET 2021) की परीक्षा तिथियां अभी तक घोषित नहीं की गई हैं. रिपोर्ट के अनुसार इस साल परीक्षा के तौर-तरीकों पर चर्चा करने के लिए स्वास्थ्य (Ministry of Health & Family Welfare), शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) के सीनियर अधिकारी और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) सोमवार यानी 25 जनवरी को बैठक करेंगे. इस बैठक में NEET 2021 की परीक्षा ऑनलाइन और वर्ष में दो आयोजित करने की संभावनाओं पर चर्चा हो सकती है.Also Read - NEET UG Counselling 2021: AIQ और राज्‍य अनुसार काउंसलिंग के लिये शेड्यूल जारी, यहां चेक करें

रिपोर्ट के अनुसार सीनियर अधिकारी JEE Main की तरह कंप्यूटर आधारित मोड में परीक्षा आयोजित करने की संभावना पर चर्चा करेंगे. एम्स के फैकल्टी एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राकेश यादव वर्ष में दो बार NEET आयोजित करने के पक्ष में हैं. देश में MBBS / BDS पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए NEET स्नातक परीक्षा दुनिया की सबसे बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक है. परीक्षा के लिए हर साल लगभग 16 लाख उम्मीदवार पंजीकरण करते हैं. JEE Main 2021 को चार बार आयोजित करने के संबंध में शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) द्वारा हाल ही में किए गए उपायों के बाद कई छात्रों ने NEET में अधिक प्रयास करने के लिए कहा है. नवीनतम अपडेट के अनुसार छात्रों की यह बस उनकी इच्छा हो सकती है. Also Read - NEET PG Counselling: सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- नीट पीजी दाखिले में OBC और EWS आरक्षण को मिली हरी झंडी

राकेश यादव ने TOI से बात करते हुए कहा, “छात्रों का उपस्थित नहीं हो पाना खराब दिन हो सकता या विभिन्न कारण हो सकता है. इसलिए, इंजीनियरिंग प्रवेश की तरह NEET को भी कई बार आयोजित किया जा सकता है.” श्री देवराज उर्स विश्वविद्यालय, कोला के कुलाधिपति डॉ. एस कुमार को भी लगता है कि बुरे दिन की वजह से एकेडमिक ईयर को बर्बाद नहीं होने देना चाहिए. वह यह भी बताते हैं कि परीक्षा का ऑनलाइन मोड दुनिया भर में टेस्ट का एक प्रभावी और कुशल तरीका है. हालांकि NEET के साथ, तौर-तरीकों की जाँच की जानी है और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) सोमवार को उसी के लॉजिस्टिक्स को साझा करेगी. डॉ. यादव ने कहा है कि NTA लॉजिस्टिक्स का प्रबंधन कर सकता है और साल में दो बार NEET आयोजित करना एक अच्छा विचार हो सकता है. Also Read - NEET PG Admission: नीट एडमिशन में EWS रिजर्वेशन मामले की सुनवाई आज, सुप्रीम कोर्ट करेगा फैसला

उद्योग के विशेषज्ञों ने यह भी बताया है कि महामारी के समय में ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करना आगे के लिए अच्छा हो सकता है. इस वर्ष COVID19 की वजह से रिजल्ट में देरी के कारण अधिक मेडिकल शिक्षा (Medical Education) में प्रवेश के लिए देश में एकमात्र परीक्षा NEET के प्रयासों की संख्या के लिए विशेषज्ञ कई प्रयासों की संभावनाओं के बारे में बात कर रहे हैं. हालांकि, फाइनल निर्णय स्वास्थ्य मंत्रालय के पास है. छात्रों के साथ बातचीत में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal) ने इस मामले पर चर्चा करने और ऑनलाइन मोड में परीक्षा आयोजित करने की संभावना पर सहमति व्यक्त की है.