NEET JEE Exam 2020: जेईई और नीट परीक्षा लिए जाने का विरोध अब तक कई छात्रों द्वारा किया जा रहा था. हालांकि अब इन परीक्षाओं के विरोध में दिल्ली सरकार (Delhi Government) भी कूद चुकी है. दिल्ली सरकार ने छात्रों के सुर में सुर मिलाते हुए इस वर्ष नीट (NEET) और जेईई (JEE) की परीक्षाएं रद्द किए जाने की मांग भी की. Also Read - दिल्ली सरकार को हाईकोर्ट का झटका, निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 80% ICU बेड रिजर्व रखने के आदेश पर रोक

वहीं दिल्ली ने केंद्र से कहा है कि इन परीक्षाओं के स्थान पर कोई वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाए. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) कह चुके हैं, “जेईई (JEE) और नीट (NEET) की परीक्षा के नाम पर केंद्र सरकार लाखों छात्रों की जि़ंदगी से खेल रही है. मेरी केंद्र से विनती है कि पूरे देश में ये दोनों परीक्षाएं तुरंत रद्द करें और इस साल एडमिशन की वैकल्पिक व्यवस्था करे.” Also Read - अरविंद केजरीवाल की गैर भाजपा दलों से अपील- राज्यसभा में कृषि विधेयकों के खिलाफ करें वोट

हालांकि दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, जेईई (JEE) और नीट (NEET) परीक्षा कराने का मसला डीडीएमए में आया था. इसमें परीक्षा कराने का प्रस्ताव रखा गया था. फाइल में दिल्ली सरकार (Delhi Government) के राजस्व मंत्री ने छात्रों के हित में परीक्षा न कराने का प्रस्ताव रखा, वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने भी परीक्षा न कराने का निर्णय किया. लेकिन एलजी ने मुख्यमंत्री के निर्णय को पलट दिया और परीक्षा कराने की अनुमति दी. Also Read - NEET Answer Key 2020: नीट का आंसर की जल्द होगा जारी, रिजल्ट अगले महीने जारी होने की है संभावना, यहां देखें पूरी डिटेल