NEET Result 2020: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के पास उपलब्ध आँकड़ों के अनुसार इस वर्ष NEET में मेडिकल प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों की संख्या सबसे अधिक है. 13.66 लाख से अधिक उम्मीदवारों में से 7.7 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है जो देश भर के MBBS Courses में प्रवेश के लिए उपयोग की जाती है. एक अधिकारी ने कहा, “इस वर्ष NEET परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले उत्तर प्रदेश के उम्मीदवारों की अधिकतम संख्या 88,889 के साथ पहले स्थान पर है, जबकि महाराष्ट्र 79,974 उम्मीदवारों के साथ दूसरे स्थान पर है.”Also Read - शॉर्ट्स पहनकर NEET परीक्षा देने पहुंची लड़की से बोला निरीक्षक- नहीं देने देंगे एग्जाम; पर्दे से पैरों को ढककर दी परीक्षा

केरल (59,404) और कर्नाटक (55,009) के बाद 65,758 सफल उम्मीदवारों के साथ NEET परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों की संख्या के मामले में राजस्थान तीसरे स्थान पर है. कुल 23,554 उम्मीदवारों ने दिल्ली से परीक्षा उत्तीर्ण की है, जबकि 22,395 सफल उम्मीदवार हरियाणा से हैं. नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) का रिजल्ट शुक्रवार को घोषित कर दिया गया. प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार त्रिपुरा को सबसे अधिक उम्मीदवारों के साथ राज्य के रूप में आंका गया था. हालांकि, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बाद में डेटा को “मानव त्रुटि” करार देते हुए सुधार किया था. Also Read - NEET Exam Latest Update: इस राज्य में अब नहीं होगी नीट परीक्षा, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक

अधिकारी ने कहा, “परीक्षा में क्वालीफाई करने वाली महिलाओं की संख्या अधिक है. जहां 4.27 लाख महिलाओं ने परीक्षा उत्तीर्ण की है, वहीं परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले पुरुषों की संख्या 3.43 लाख है. 4 ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों में से एक, जो परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे, सफल रहे हैं.” NEET परीक्षा को COVID-19 महामारी के मद्देनजर कड़ी सावधानियों के बीच 13 सितंबर को आयोजित किया गया था. इस वर्ष से, 13 ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पुदुचेरी में एमबीबीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश भी नेशनल मेडिकल कमीशन एक्ट, 2019 में संशोधन के बाद NEET के माध्यम से किया जाएगा, जो संसद द्वारा पिछले साल पारित किया गया था. Also Read - NEET 2021 Exam Date: 12 सितंबर को NEET परीक्षा का आयोजन, 13 जुलाई से कर सकेंगे आवेदन

इस वर्ष 11 भाषाओं – अंग्रेजी, हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, ओडिया, तमिल, तेलुगु और उर्दू में टेस्ट आयोजित की गई थी. प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर 77 प्रतिशत से अधिक उम्मीदवारों ने अंग्रेजी में परीक्षा दी, लगभग 12 प्रतिशत हिंदी में और 11 प्रतिशत अन्य भाषाओं में. COVID-19 महामारी के कारण परीक्षा को पहले दो बार स्थगित किया गया था और सरकार ने आगे किसी अकादमिक नुकसान को कम करने के लिए एक वर्ग के विरोध के बावजूद इसके साथ आगे बढ़ने का फैसला किया था.