New Education Policy 2020: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (National Education Policy 2020) एक गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान करने के लिए एक विज़न सेट करती है, जो 21वीं सदी की आवश्यकता को पूरा करती है. उन्होंने कहा, “राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) का उद्देश्य 21 वीं सदी की जरूरतों को पूरा करने की दिशा में हमारी शैक्षिक प्रणाली को पुनर्जीवित करना है. यह सभी को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करके एक न्यायसंगत और जीवंत ज्ञान समाज विकसित करने की दृष्टि निर्धारित करता है. यह समावेश और उत्कृष्टता के दोहरे उद्देश्यों को प्राप्त करता है.” Also Read - दिवाली से पहले केंद्र सरकार करेगी तीसरे राहत पैकेज का ऐलान! नौकरियों की आएगी बहार

उन्होंने आगे कहा कि NEP छात्रों के बीच रट्टा सीखने की आदत को खत्म करेगा और छात्रों के बीच तनाव को कम करके अंकों या ग्रेडों को बढ़ाने में मदद करेगा. राम नाथ कोविंद ने ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy 2020) के कार्यान्वयन को लेकर उच्च शिक्षा’ पर विजिटर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “NEP अंक या ग्रेड पर रट्टा सीखने और अधिकता को हतोत्साहित करना चाहता है. यह महत्वपूर्ण सोच और जांच की भावना को प्रोत्साहित करना चाहता है.” नई शिक्षा नीति (New Education Policy) की सराहना करते हुए राष्ट्रपति ने कहा, “दो लाख से अधिक सुझावों पर ध्यान दिया गया है. इस प्रकार यह नीति शिक्षा प्रणाली की चुनौतियों, आकांक्षाओं और समाधानों की जमीनी स्तर की समझ को दर्शाती है.” Also Read - Onion Price: 150/KG की कीमत से प्याज हुआ आसमानी, ऊंचाई पर अब लगेगी लगाम

उन्होंने आगे कहा कि केंद्र की भूमिका विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) जैसी एजेंसियों के माध्यम से ‘मानक तय करने’ तक सीमित नहीं होनी चाहिए, क्योंकि केंद्र के तहत उच्च शिक्षा संस्थानों को गुणवत्ता के मानक निर्धारित करने चाहिए. उन्होंने आगे कहा, “विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) या भारत के प्रस्तावित उच्च शिक्षा आयोग जैसी एजेंसियों द्वारा मानदंडों को निर्धारित करने के लिए केंद्र की भूमिका सीमित नहीं होनी चाहिए. गुणवत्ता पर एक स्पष्ट ध्यान केंद्रित होना चाहिए. केंद्र के तहत उच्च शिक्षा संस्थानों को गुणवत्ता मानक निर्धारित करना चाहिए.” Also Read - CBSE, ICSE Board Exam 2021: परीक्षा 45 से 60 दिनों तक पोस्टपोन होने की है संभावना, जानिए क्या कहती है रिपोर्ट 

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New National Education Policy) भारत को एक न्यायसंगत और जीवंत ज्ञान समाज बनाने के लिए प्रयासरत है. यह एक भारत-केंद्रित शिक्षा प्रणाली को लागू करता है जो भारत को वैश्विक महाशक्ति में बदलने में सीधे योगदान देता है.