NIOS 10th, 12th Exams Cancelled: मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) ने घोषणा की है कि राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय संस्थान (NIOS) के लिए सार्वजनिक परीक्षा या बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी गई है. मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से ट्वीट करके कहा, “छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जुलाई 2020 में आयोजित होने वाले #NIOS सार्वजनिक #Exams अब रद्द कर दिए गए हैं. रिजल्ट सक्षम समिति द्वारा अंतिम रूप से निर्धारित मूल्यांकन योजना के आधार पर घोषित किए जाएंगे.” Also Read - NIOS 12th Result 2020 Declared: एनआईओएस ने 12वीं का रिजल्ट किया जारी, ये रहा चेक करने का Direct Link

यदि कोई छात्र अपने मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं है, तो उनके पास अगली सार्वजनिक या ऑन-डिमांड परीक्षा में उपस्थित होने का विकल्प होगा. इन परीक्षाओं की तारीख अभी तय नहीं हुई है. NIOS ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि ये परीक्षाएं तब होंगी जब स्थिति “अनुकूल” होगी. हालांकि, इन पेपरों के बाद कोई इम्प्रूवमेंट एग्जाम आयोजित नहीं की जाएगी. भारत में बढ़ते कोरोना वायरस मामलों के कारण यह निर्णय लिया गया है. उम्मीदवारों द्वारा बेस्ट तीन विषयों में किए गए परफॉर्मेंस के आधार पर जिन पेपरों की परीक्षा आयोजित नहीं की गई है, उनमें औसत अंक दिए जाएंगे.हालांकि, ऐसा एक बार ही किया जाएगा. NIOS ने यह भी कहा कि छात्रों को आगे बढ़ने में सक्षम होने के लिए रिजल्ट जल्द ही घोषित किए जाएंगे. Also Read - NIOS 12th Result 2020 Declared: एनआईओएस ने जारी किया 12वीं का रिजल्ट, ऐसे चेक करें अपना स्कोर

जिन छात्रों ने तीन विषयों में उत्तीर्ण किया है, उनके औसत अंक की गणना बेस्ट दो के आधार पर की जाएगी और जो छात्र एक या दो विषयों में परफॉर्मेंस किए हैं, उनके औसत अंकों का मूल्यांकन पिछले तीन थ्योरी में किए गए परफॉर्मेंस के आधार पर की जाएगी. उन लोगों के लिए जो पहली बार इस परीक्षा में उपस्थित होने वाले थे, उन्हें उनके ट्यूटर-चिन्हित असाइनमेंट (TMA) या प्रैक्टिकल के मार्क्स के आधार पर औसत अंकों का मूल्यांकन किया जाएगा. Also Read - Smart India Hackathon 2020: पीएम मोदी आज 4:30 बजे करेंगे स्मार्ट इंडिया हैकथॉन को संबोधित, फाइनलिस्ट से होगी चर्चा 

NIOS कक्षा 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 24 मार्च से आयोजित होने वाली थीं. हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया और 17 जुलाई से आयोजित होने के लिए पुनर्निर्धारित किया गया था. लेकिन अब परीक्षाएं रद्द कर दी गईं. इससे पहले CBSE और CISCE ने अपनी लंबित परीक्षाओं को भी रद्द कर दिया है.