Odisha Board Class 10th, 12th Exam 2021: ओडिशा के मास शिक्षा मंत्री एस आर दाश (Samir Ranjan Dash) ने कक्षा 10वीं, 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 पर बोलते हुए कहा है कि CBSE की तरह ओडिशा BSE और CHSE की लिखित परीक्षा का आयोजन ऑफलाइन मोड में ही करेंगे. उन्होंने कहा कि फरवरी और मार्च 2021 में बोर्ड परीक्षा आयोजित करने की कोई संभावना नहीं है. बता दें कि बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (BSE Odisha) ओडिशा कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा आयोजित करता है जबकि काउंसिल फॉर हायर सेकेंडरी एजुकेशन (CHSE Odisha) राज्य में कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा आयोजित करने की जिम्मेदार है.Also Read - BSE Odisha Board 10th Result 2021 Declared: ओडिशा बोर्ड 10वीं का रिजल्ट हुआ जारी, ये है चेक करने का Direct Link

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की पुष्टि के बाद ओडिशा के मास शिक्षा मंत्री (Samir Ranjan Dash) ने कहा है कि 10 वीं और 12 वीं बोर्ड परीक्षा 2021 ऑफ़लाइन आयोजित की जाएगी और परीक्षा के दौरान CBSE के निर्देशों का पालन करेंगे. उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि BSE और CHSE परीक्षाओं की समय सारणी बढ़ाई जाएगी और COVID-19 महामारी के कारण परीक्षा में देरी हुई. दाश (Samir Ranjan Dash) ने कहा, “फरवरी और मार्च में बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (BSE) और काउंसिल ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन (CHSE) की ओर से परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं है, क्योंकि कई छात्र ऑनलाइन क्लासेस नहीं ले रहे हैं.” Also Read - Odisha Board BSE 10th Result 2021: ओडिशा बोर्ड कल जारी करेगा माध्यमिक परीक्षा का रिजल्ट, इस Direct Link से करें चेक

ओडिशा में स्कूलों को फिर से खोलने के बारे में मंत्री ने कहा कि स्कूल और मास शिक्षा विभाग 9वीं से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार कर रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि बोर्ड परीक्षाएं न्यूनतम तीन महीने के क्लास रूम शिक्षण के बाद ही आयोजित की जाएंगी.उन्होंने कहा, “हम COVID-19 दिशानिर्देशों के अनुसार छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए एक निर्णय लेंगे.” ओडिशा सरकार ने अपने नवीनतम अनलॉक दिशा-निर्देशों में शैक्षणिक संस्थानों को अपने नियंत्रण और पर्यवेक्षण के तहत कक्षा 9-12वीं के लिए फिर से खोलने की अनुमति दी है. Also Read - West Bengal 10th-12th Exam Update: छात्रों को घर से देनी पड़ सकती है परीक्षा, ऑनलाइन एगजाम कराने पर भी विचार, एक्सपर्ट्स पैनल ने दिए ये सुझाव