पटना: ITI छात्रों के लिए बड़ी राहत की खबर आई है. बिहार में ITI की डिग्री को 12वीं के बराबर माना जाएगा. यानी अब बिहार में आईटीआई पास करने वाले छात्रों को 12वीं की डिग्री नहीं लेनी होगी, उन्हें इंटरमीडिएट का ही दर्जा मिलेगा. नये नियमों के अनुसार अब इसके लिए जनवरी में रजिस्ट्रेशन शुरू होगा. इसमें वह छात्र भी शामिल हो सकते हैं, जिन्होंने आईटीआई में 1 साल पूरा कर लिया है. Also Read - RJD का दावा- बिहार में ज्यादा दिन नहीं चलेगी NDA की सरकार, नीतीश कुमार को दिया यह 'ऑफर'

Also Read - Acid Attack in Saran: भूमि विवाद में सारण में एसिड अटैक, 20 लोग हुए घायल, तीन गिरफ्तार

CBSE CTET 2018 Answer keys: जानिये कब जारी होगी Answer Key, cbse.nic.in पर ऐसे कर पाएंगे चेक Also Read - Nitish Cabinet Expansion News: अगले सप्ताह मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं नीतीश कुमार, इन्हें मिल सकता है चांस!

रिपोर्ट के अनुसार आईटीआई करने वाले छात्रों को अलग से इंटरमीडिएट की परीक्षा देने की जरूरत नहीं होगी. लेकिन आईटीआई में हिन्दी और अंग्रेजी विषय शामिल नहीं होता इसलिए उन्हें सिर्फ हिन्दी और अंंग्रेजी का एग्जाम देना होगा. इतना करने के बाद छात्रों को जो डिग्री मिलेेेेगी, वह इंटरमीडिएट के समकक्ष मानी जाएगी. BSEB ऐसे छात्रों को इंटर का ही सर्टिफिकेट देगा.

मंगलवार को इस फैसले पर मुहर भी लगा दी गई है. बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर के अनुसार लंबे समय से इसकी मांग की जा रही थी, जिसपर अभी फैसला लिया गया.

करियर संबंधी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com