Petition filed against salary cut of Teachers: राष्ट्रीय राजधानी में चल रहे COVID-19 महामारी के बीच कुछ निजी स्कूलों के शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों के वेतन कटौती के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष एक याचिका दायर की गई है. कानून के छात्र मुकुल शर्मा द्वारा दायर याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होने की संभावना है. Also Read - दिल्ली HC ने दिया आदेश-ऑनलाइन क्लासेज के लिए छात्रों को दें मोबाइल-लैपटॉप, इंटरनेट पैक

शर्मा ने अपनी दलील में प्रतिवादी स्कूलों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने और शिक्षकों को पूरा वेतन देने के साथ-साथ सभी देय बकाया को स्पष्ट करके अंतरिम राहत प्रदान करने के बारे में कहा है. परिवादियों ने शिक्षकों के अनुबंध को नवीनीकृत करने और उन्हें उचित वेतन प्रदान करने के लिए प्रतिवादी स्कूलों से दिशा-निर्देश मांगे और साथ ही अनुबंध पर आने वाले शिक्षकों को भी पूरा वेतन प्रदान करने की बात भी कही है. Also Read -  कोर्ट से नहीं देखी गई 87वर्षीय बुजुर्ग की परेशानी, रक्षा विभाग पर लगाया एक लाख का जुर्माना

इसमें कहा गया है कि अगर याचिका को अनुमति दी जाती है, तो राष्ट्रीय राजधानी में सभी स्कूलों के शिक्षकों और कार्यरत कर्मचारियों को लाभ होगा क्योंकि कानून का नियम लोकतंत्र के लिए आवश्यक है और प्रतिवादी स्कूलों द्वारा कानून का इस तरह का उल्लंघन सभी नागरिकों के लिए एक सबक होगा. Also Read - दिल्ली हाईकोर्ट ने 'गुंजन सक्सेना : द कारगिल गर्ल' की स्ट्रीमिंग पर रोक से किया इनकार