स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बुधवार को कहा कि राजस्थान सरकार ने कोविद -19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में मैनपावर की कमी को सुनिश्चित करने के लिए जल्द ही 2,000 चिकित्सकों और 9,000 से अधिक नर्सों की भर्ती करने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में मैनपावर की कमी नहीं होगी. Also Read - खुशखबरी! बिहार में जून के पहले हफ्ते से सड़क पर फिर से दौड़ेंगी बसें, चरणबद्ध रूप में शुरू होगी सेवा

हाल ही में विभिन्न जिलों में 735 नए डॉक्टरों की नियुक्ति की गई थी और अब 2000 और डॉक्टरों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशों पर 9,000 एएनएम और जीएनएम की नियुक्ति जल्द ही की जाएगी क्योंकि कोर्ट में फंसे 12,500 नर्सिंगकर्मियों की भर्ती को मंजूरी दे दी गई है. Also Read - बैकयार्ड में शैडो प्रैक्टिस से बोर हुआ ऑस्ट्रेलियाई धाकड़ बल्लेबाज, वीडियो शेयर कर बताई आपबीती

डॉ. शर्मा ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करने और चिकित्सा संस्थानों को सभी चिकित्सा सुविधाओं से लैस करने के लिए चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं. राज्य में जांच सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वर्तमान में कोरोना वायरस के 4,700 परीक्षण प्रतिदिन किए जा सकते हैं, जिनका विस्तार आने वाले दिनों में 10,000 तक किया जाएगा. Also Read - Coronavirus In India Update: 24 घंटे में रिकॉर्ड मामले आए सामने, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 38 हजार के पार

उन्होंने कहा कि सभी जिला मुख्यालयों पर परीक्षण सुविधाएं विकसित करने के लिए भी काम जारी है. शर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य टीमों पर अभद्रता और हमले या कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में शामिल किसी भी लोगों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.