Rajasthan Police Constable Exam 2020: राजस्थान पुलिस कांस्टेबल परीक्षा 2020 6 नवंबर, 2020 से आयोजित की जाएगी और 8 नवंबर, 2020 तक जारी रहेगी. परीक्षा 5438 पदों पर आयोजित की जा रही है. परीक्षा में 17 लाख आवेदक शामिल होंगे. परीक्षा में भाग लेते समय अपनाई जाने वाली मानक संचालन प्रक्रियाओं पर एक नज़र डालें और अगर करवाचौथ मेंहदी आवेदक को परीक्षा में उपस्थित होने में प्रभावित करेगा तो इस गाइडलाइंस को पढ़ें.Also Read - Swimming Pool में बच्चे के सामने महिला कांस्टेबल संग अश्लील हरकत करने वाला पुलिस अधिकारी गिरफ्तार, वायरल हुआ था वीडियो...

Rajasthan Police Constable Exam 2020 के लिए गाइडलाइंस Also Read - Rajasthan Police SI Admit Card 2021: जल्द जारी होगा राजस्थान पुलिस सब इंस्पेक्टर का एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

राजस्थान पुलिस कांस्टेबल परीक्षा दो पालियों में राज्य के 600 केंद्रों पर आयोजित की जाएगी. पहली पाली सुबह 9 बजे से 11 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित की जाएगी. यहां अधिकारियों द्वारा नियोजित कुछ चीजें हैं. Also Read - Rajasthan News: भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा गिरफ्तार, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो, जानिए वजह

परीक्षा 5 नवंबर, 2020 को निर्मित होने वाले कंट्रोल रूम में सीसीटीवी कैमरे का उपयोग करके परीक्षा को कवर किया जाएगा. उम्मीदवारों को परीक्षा में प्रवेश करने के लिए अपने दोनों हाथों के अंगूठे के निशान का उपयोग करना होगा.

रिपोर्टों के अनुसार आवेदकों द्वारा बेईमान साधनों के उपयोग से बचने के लिए परीक्षा के क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं को अवरुद्ध कर दिया जाएगा. आवेदकों को केवल परीक्षा के दिन के दौरान केंद्र पर अपना पेन ले जाने की अनुमति होगी.

उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में मास्क पहनने और हर समय सैनिटाइज़र का उपयोग करने की सलाह दी जाती है. उम्मीदवारों के कपड़े सभ्य होने चाहिए और पूर्ण कवरेज प्रदान करना चाहिए. परीक्षा के लिए पुलिस बोर्ड द्वारा ऐसा कोई ड्रेस कोड प्रदान नहीं किया गया है.

Rajasthan Police Constable Exam 2020 के लिए हाथों में करवाचौथ मेंहदी लगे उम्मीदवारों को भी होगी अनुमति

उम्मीदवारों को विशेष रूप से महिलाओं को ध्यान में रखना चाहिए कि दोनों हाथों के अंगूठे के निशान को केंद्र में पंजीकृत होना चाहिए. मेंहदी आवेदन के मामले में यदि अंगूठे का निशान सही से नहीं पढ़ा जाएगा, तो उन्हें परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जा सकती है. इसलिए उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि अंगूठे से मेहंदी को हटाने की सलाह दी जाती है.