जयपुर: राजस्थान सरकार ने बुधवार को तृतीय श्रेणी में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी दी है. राजस्थान में तृतीय श्रेणी में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती जल्‍द ही शुरू होने वाली है. इनकी भर्ती अध्यापक पात्रता परीक्षा के आधार पर होगी. Also Read - पंजाब के बाद अब केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ विधेयक लाएगी राजस्थान की कांग्रेस सरकार

सरकारी बयान के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तृतीय श्रेणी में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती करने संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी दी है. इनकी भर्ती अध्यापक पात्रता परीक्षा के आधार पर होगी. राजस्थान सरकार ने तृतीय श्रेणी में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी दी है. Also Read - Priest Murder Case: राजस्थान सरकार ने पुजारी की हत्या मामले की जांच CID-CB से कराने के दिए निर्देश

बता दें कि मुख्यमंत्री ने 2020-21 के बजट भाषण में कुल 53 हजार पदों की भर्ती की घोषणा की थी. इनमें से 41 हजार पद शिक्षा विभाग के हैं. Also Read - राजस्थान: मृतक पुजारी का हुआ अंतिम संस्कार, सरकार 10 लाख रुपये की मदद और नौकरी देगी

राज्य में क्रमोन्नत विद्यालयों में 2489 अस्थाई पद सृजित करने को मंजूरी दी गई है. इनमें से प्रधानाध्यापक के 104, वरिष्ठ अध्यापक के 1692, अध्यापक के 411 एवं कनिष्ठ सहायक के 282 पद शामिल हैं.

इन पदों पर भर्ती से राज्य सरकार पर दो साल तक परीवीक्षा काल में 881.61 करोड़ रुपए और इसके बाद 1717.40 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष का वित्तीय भार आएगा.

वहीं, राजस्थान पुलिस के विशेष कार्यबल एसओजी की तीन इकाई के लिए 27 नवीन पदों का सृजन करने के प्रस्ताव को भी मुख्यमंत्री ने मंजूरी दी है. इसके तहत एसओजी फील्ड यूनिट रतनगढ़ (चूरू), पनियाला (जयपुर ग्रामीण) व एंटी नारकोटिक्स यूनिट जयपुर के लिए 27 नए पद सृजित किए जाएंगे. साथ ही इन चौकियों में टेलीफोन, फर्नीचर एवं मोटर-साइकिल सहित अन्य संसाधनों के लिए वित्तीय स्वीकृति दी गई है.