नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते लॉकडाउन (Lockdown) हुआ और सब ठप हो गया. कई लोगों की नौकरियां चली गईं. जों नौकरियां तलाश रहे थे, उन्हें घर बैठ जाना पड़ा. ऐसे में रिलायंस (Reliance) ने युवाओं को शानदार मौका दिया है. रिलायंस ने लॉकडाउन देखते हुए ऑनलाइन इंटर्नशिप (Onlince Internship) देना शुरू की है. इसके साथ ही वादा किया गया है कि इंटर्नशिप के बाद नौकरी भी दी जाएगी.Also Read - Jio New Prepaid Plans: जियो के नए प्रीपेड प्लान्स में Disney Hotstar का सब्सक्रिप्शन फ्री, ये हैं शानदार ऑफर

लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज ने युवाओं को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने के लिए ‘वर्चुअल रिलायंस समर प्रोग्राम’ (Virtual Reliance Summer Program) लांच किया है. कंपनी ने कहा लॉकडाउन में जब सभी अपने घरों में रहने को मजबूर हैं. ऐसे वक्त में रिलायंस ने युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए ‘वर्चुअल रिलायंस समर प्रोग्राम’ लॉन्च किया है. इस प्रोग्राम में फिलहाल 84 युवा और स्टूडेंट भाग ले रहे हैं. प्रोग्राम को इस तरह डिजाइन किया गया है कि इंटर्न को एक बड़े कॉर्पोरेट हाउस में काम करने का वास्तविक अनुभव प्राप्त हो. Also Read - Share market update: पहली बार सेंसेक्स 57,000 के पार, निफ्टी 17,000 के करीब

कोरोना संक्रमण (Corona Virus) फैलने के बाद इन इंटर्न के प्रशिक्षण को लेकर संशय पैदा हो गया था. दफ्तर बंद किए जा रहे थे. कुछ बड़ी कंपनियों ने इंटर्नशिप ही रद्द कर दी थी. ऐसे में रिलायंस ने युवाओं को समय पर इंटर्नशिप करा कर एक मिसाल कायम की है. वर्चुअल रिलायंस समर प्रोग्राम का हिस्सा बनने वाले एक युवा यश नाइकनावरे का कहना है कि “हमने तो उम्मीद ही छोड़ दी थी, दूसरी कंपनियों में हमारे सभी मित्रों की इंटर्नशिप निरस्त कर दी गई थी. फिर एक दिन रिलायंस की तरफ से मेल मिला, जिसमें हमें प्रशिक्षण में ऑनलाइन शामिल होने के लिये कहा गया. शुरू में तो हमें विश्वास ही नहीं हो रहा था कि एक कंपनी किस तरह हमें इंटर्नशिप कराएगी. पर हमारे ऑनलाइन प्रशिक्षण और घर पर ही व्यवस्था के बाद अब हम बिलकुल तैयार है.” Also Read - Future Deal: मुकेश अंबानी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, Amazon के पक्ष में आया फैसला

‘वर्चुअल रिलायंस समर प्रोग्राम’ रिलायंस ने स्वयं के संसाधनों से तैयार किया है. यह कार्यक्रम एक विस्तृत ऑन-बोर्डिंग मॉड्यूल के साथ शुरू हुआ है, जिसका उद्देश्य न केवल कंपनी का वास्तविक अनुभव देना है अपितु नौकरी के लिए भी प्रशिक्षुओं को तैयार करना है. प्रशिक्षुओं को काम सिखाने और उसे अधिक रोचक बनाने के लिए ‘गेमिफाइड लर्निंग और एंगेजमेंट मॉड्यूल’ को भी शामिल किया गया है. इसे एक पूर्ण प्रशिक्षु कार्यक्रम बनाने के लिए इसमें पूर्व प्लेसमेंट पेशकश की भी व्यवस्था की गई है.”